भाई से चुद गई

Bhai Behan Sex Story

Bhai Bahan Chudai Kahani
(भाई से चुद गई)

हैलो मेरे चोदू दोस्तों कैसे हो सब ? उम्मीद है सब अपना अपना लंड चूत मे पेल रहे होंगे मैं punjabi sex story डॉट कॉम पर सेक्सी स्टोरी की बहुत बड़ी ठरकी हूं और आज मैं भी आपको अपनी एक सच्ची घटना बताने जा रही हूं ये घटना मेरी और मेरे भाई की चुदाई यानि bhai bahan chudai kahani है तो अब ज्यादा समय ना बरबाद करते हुए आती हूं अपनी कहानी पर

मेरा नाम रोशनी है और मैं एकदम सेक्सी स्लिम ब्राउन बालो वाली सुंदर लड़की हूं बात उस समय की है जब मैं कुंवारी थी यानि मेरी चूत और गांड ने कभी लंड का स्वाद नहीं चखा था मेरे मम्में 34 के थे और मेरी गांड 36 की मेरी कुछ सहेलियां सेक्स कर चुकी है और वीडियो भी बना चुकी है जो मुझे दिखाती थी bhai bahan chudai kahani

कभी कभी तो अजीब लगता मगर फिर एक्साइटेड फील भी करती मैं मासूम थी और मास्टरबेट भी नहीं करती थी एक दिन मैं घर आई तो कोई नहीं था तो मैं नहाने चली गई अपने मम्में गांड और चूत को रब करते हुए मज़ा लेते हुए नहाने लगी मैं टॉवल लपेट कर निकली तो सामने भईया आ गए मैं डर के भागी तो अचानक टॉवल फंस के निकल गया और भईया के सामने मैं नंगी हो गई

भईया खड़े होकर मुझे घूर के देखने लगे मैं कुछ सेकंड कुछ नहीं की फिर टॉवल लेकर भाग गई भईया पीछे मुड़के मुझे भागता देख रहे थे मतलब मेरी नंगी गांड को देख रहे थे वैसे मेरे 2 भाई है एक बड़ा और एक कुछ साल छोटा है मेरे से बड़े भईया का नाम राघव और छोटे भाई का नाम अयान रात का समय हो गया था और मैं सोने चली गई bhai bahan chudai kahani

रात में मुझे मेरे कमरे में किसी के आने की आहट लगी मैं डर गई मुझे लगा कोई चोर आ गया है वो मेरे पास आया और मुझे हिला के देखा की मैं सो तो नहीं गई मैंने कुछ रिस्पांस नहीं दिया फिर उसने मेरे मम्मों को दबाते हुए मुझे हिलाया मैंने फिर भी कोई रिस्पांस नहीं दिया अगर जाग जाती तो पता नहीं क्या करता

फिर वह मेरे मम्मों पर हाथ फेरने लगा मैं बिना ब्रा के सोती हूं क्योंकि ब्रा पहनके मुझे बहुत अजीब महसूस होता था तो लूस टॉप पहन लेती थी फिर उसने हाथ अंदर डाल के मेरे मम्में फील करने लगा और धीरे से दबाने लगा उसका दूसरा हाथ मेरी पैंटी में जा रहा था वो मेरे चूत को महसूस कर रहा था bhai bahan chudai kahani

फिर उसने अपना हाथ मेरे मम्मों से हटाया और मुठ मारने लगा उसका एक हाथ मेरी पैंटी के ऊपर था और दूसरा उसके लंड पर थोड़ी देर बाद उसका शायद निकल गया होगा और वह चला गया अगले दिन मैं सुबह नाश्ते के लिए गई तो भईया वहीं थे तो मैंने उनको देखा और वो देखकर मुझे स्माइल करने लगे

मैंने भी स्माइल कर दी फिर स्कूल गई स्कूल मैं नार्मल सब सेक्स की बातें करने लगे बाथरूम में पोर्न देख के मास्टरबेट नार्मल था मैं नहीं करती थी ये सब तो कोई मुझे बोलता भी नहीं सो फिर आ गई घर डिनर किया होमवर्क किया और छोटे भाई की मदद की फिर सोने चली गई bhai bahan chudai kahani

थोड़ी देर बाद मेरी चूत में कुछ महसूस हुआ वो लड़का फिर आ गया था मुझे एक्साइटेड फील हो रहा था और मैं चुप रही फिर थोड़ी देर बाद वो चला गया अब ये रोज का हो गया था फिर धीरे धीरे वह कुछ आगे बढ़ने लगा अब वो टॉप ऊपर करके अच्छे से मेरे मम्मों का मज़ा लेने लगा

फिर मेरे शार्ट को भी उतारने लगा फिर वो मम्मों को मुंह में लेने लगा और वो अपना लंड निकाल के मेरे जिस्म में टच करने लगा कभी मम्में कभी चूत फिर उसने अपना लंड मेरे लिप्स पर रख के हल्का रब किया मुंह बंद था मेरा वरना मेरे मुंह में अंदर भी डाल देता उसका हल्का सा पानी मेरे लिप्स पर लग गया था जिसे साफ भी नहीं कर सकती थी bhai bahan chudai kahani

वो मेरे जिस्म से खेल ही रहा था की फिर वो चला गया मेरे ध्यान से निकल गया और मैंने लिप्स को चाट लिया मुझे उसके पानी का टेस्ट आ गया जो बुरा नहीं था तो मैं अच्छे से चाट कर साफ कर गई

अगले दिन मैं चाहती थी वो मेरे लिप्स पर फिर से अपना लंड रख दे मैं रात होने का इंतजार करने लगी और मैं हल्का मुंह खोलकर रखी या शायद ऐसे ही सो गई थी वो आया और मेरे मम्में और चूत के साथ खेलने के बाद लंड रब करने लगा bhai bahan chudai kahani

फिर वो मेरे लिप्स में रब करने लगा और उसने मेरे मुंह में लंड डाल दिया तो मेरी सांस बंद होने लगी और मैं उठ गई वो बोला रोशनी मैं समझ गई की ये भईया है तो मैंने बोला भईया

वो डर गया और तुरंत कमरे से बाहर चले गया मुझे समझ जाना चाहिए था ये और कोई नहीं भईया ही होंगे वरना कोई चोर थोड़ी डेली डेली आएगा मैं भी बच्ची थी कुछ भी सोच लिया था लेकिन अब समझ गई थी की ये और कोई नहीं भईया थे 3 हफ्तों से मज़ा ले रहे थे मेरे साथ अब मैं सोच में पड़ गई की वो अब ऐसा नहीं करेंगे क्योंकि अब मुझे भी अच्छा लगने लगा था वो सब

फिर एक दिन मैं राघव भईया के कमरे में गई तो देखा की वो मुठ मार रहा था मुझे देख के पैंट ऊपर किया और बोला सॉरी अब से ऐसा नहीं करूंगा मैं बोली इधर आओ वो बेड से उतर के आया वो लंड ठीक करने की कोशिश करने लगा लेकिन पैंट मे उसका टेंट दिख रहा था तो वो बोला प्लीज मॉम डैड को मत बोलना मैं बोली ठीक है नहीं बोलूंगी bhai bahan chudai kahani

फिर मैं नीचे झुकी और उसका पैंट भी नीचे किया लंड मेरे सामने था और उसे मैं टच करने लगी वो कुछ नहीं बोल रहा था फिर मैं उसके लंड को अपने मुंह में डाल लिया और चूसने लगी भईया को मज़ा आ रहा था इसलिए वो मुझे रोके नहीं मैं पहली बार लंड चूस रही थी मुझे आज सेक्स का नशा था तभी पहली बार इतनी हिम्मत करके ये किया था

थोड़ी देर चूसने के बाद भईया का माल मेरे मुंह में निकल गया थूकने की कोई जगह थी नहीं तो मैं सारा निगल गई फिर मैं भईया का लंड चाट कर साफ किया और उठी और जाने लगी और बोली आपको जो भी करना है आकर कर लेना मैं किसी को नहीं बोलूंगी ये बोलते ही भईया मेरे ऊपर टूट पड़े और मेरे मम्में दबाने लगे और फिर मुझे नंगा कर दिया bhai bahan chudai kahani

उसके बाद मेरे मम्मों को चूसने लगे और उनका हाथ मेरी चूत को रब कर रहा था मैं जोश में आने लगी भईया ने मुझे बेड पर लेटा दिया और मम्में आराम से चूसने और चाटने लगे और साथ ही साथ चूत रब करने लगे धीरे धीरे वो अपना मुंह नीचे करने लगे और मेरी चूत को चाटने लगे

atOptions = { ‘key’ : ‘57455d32813293803b3ba1b595ef9476’, ‘format’ : ‘iframe’, ‘height’ : 250, ‘width’ : 300, ‘params’ : {} }; document.write(”);

वो कुत्ते की तरह मेरी चूत चाटने लगे मुझसे रहा नहीं जा रहा था वो जीभ मेरी चूत के छेद में ले जाकर चाट रहे थे जिससे मुझे बहुत मज़ा आ रहा था फिर भईया का लंड फिर से खड़ा हो गया था अब इस बार भईया मेरे मम्मों के बीच में लंड रख के मेरे मम्मों से लंड को दबाये और मेरे मम्मों को चोदने लगे क्या मज़ा आ रहा था मैं आह आह आह्ह्ह्ह उम्ममम की आवाजे निकालने लगी bhai bahan chudai kahani

फिर भईया ने अपना लंड मेरी चूत पर रखा और चूत पर रगड़ने लगे और थोड़ी देर रगड़ने के बाद मेरी चूत में अपना लंड डालने की कोशिश करने लगे भईया का लंड मेरी चूत में जा नहीं रहा था और भईया जोर लगा रहे मुझे दर्द हो रहा था मैने भईया को कहा मेरे मम्मों में अपना लंड डालकर पानी निकाल लो अभी कमरे में कोई आ जायेगा

भईया भी समझ गए और उन्होंने अपना लंड मेरे मम्मों में डाल दिया और मेरे मम्मों को चोदने लगे 10 मिनट बाद उन्होंने अपना पानी मेरे मम्मों के बीच निकाल दिया और मैंने उठकर साफ किया और भईया को कमरे से बाहर जाते बोला आप ही मेरी चूत की सील तोड़ोगे जब घर में कोई नहीं होगा तो भईया खुश हो गए मैं भईया के कमरे से बाहर आ गई यह थी bhai bahan chudai kahani कैसी लगी आप सब को बताना जरूर

Visited 30 times, 1 visit(s) today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *