बिस्तर में भतीजी मेरे लंड से खेल रही थी

Other Languages

Hot Desi Ladki Chudai

नमस्कार दोस्तो मैं अमित आप लोग को अपनी सच्ची कहानी सुनाने जा रहा हु। दोस्तो मैं पहले अपने गाँव मे रहा करता था पर जबसे जॉब मिला है तब से मैं कभी कभी घर जाया करता हु। मैं एक सॉफ्टवेयर कंपनी में काम करता हु तो कंपनी की तरफ से 1BHK का फ्लैट मिला है। Hot Desi Ladki Chudai

दोस्तो एक बार जब मैं घर गया था तो मेरे घर मेरी भाभी आयी जो मेरे बड़े पापा के लड़के की औरत थी वो बोली कि अमित तुमसे कुछ हेल्प चाहिए तो मैंने कहा की कहिये भाभी तो उन्होंने कहा कि मेरी बेटी सोना जो मेरी भतीजी लगती थी.

वो अब 12वी पास कर ली है उसका एडमिशन शहर में तो हो गया है पर कोई होस्टल नही मिला और PG भी ले तो बहुत महंगा हो जाएगा तो क्या तुम कुछ दिनों के लिए अपने पास रख लोगे जब कोई होस्टल मिलेगा तो चली जायेगी।

मैं कुछ बोलता उससे पहले मेरी माँ ने बोल दिया कि क्यो नही चाचा-भतीजी एक साथ रहेंगे तो क्या दिक्कत है ले जाएगा क्यो नही। मुझे सख्त आदेश मिला कि सोना को पूरे पढ़ाई के दौरान अपने पास रखना और सुबह शाम उसे कॉलेज से लाना और ले जाना तुम्हारी जिम्मेदारी है।

खैर मैं मना करने की सोच भी नही कर सकता था पर माँ के कहने पर मैं तैयार हो गया जब जाने का समय हुआ तो सोना तैयार हो कर आई तो मैं उसे देखता ही रह गया वो बला की सुंदर हो गयी थी। पहले उसपर ध्यान नही देता था पर उस दिन टॉप और जीन्स में कहर ढा रही.

यही मुझे अपने ही भतीजी पर नियत खराब होने लगी थी। उसके 32 की चुचिया गजब की थी 28 कि कमर और 32 कि गांड। मैं पूरा लट्टू था उसपर। खैर उसके मम्मी पापा और दादी ने ज्यादा समान दे दिया ओर उसने भी अपने कपड़े और किताबो का बण्डल बाँध लिया।

सब समान को कार में भर कर उसे अपने पास बैठा लिया जब वो छोटी थी तो दिन भर मेरे पास ही रहा करती थी और मेरे साथ ही सो जय करती यही बहुत चुलबुली थी पर आज बहुत शान्त लग रही थी। जब मैं उससे बात किया की क्यो शान्त हो. ये कहानी आप क्रेजी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है.

तो बोली चाचा घर छोड़ने का दुखः है पर मैं आपके साथ जा रही हु तो बहुत खुशी मिल रही है। बात करते करते वो चहक रही थी। फ़िलहाल 2 घंटे में शहर में पहुच गया और रूम पर जा कर समान सेट किया। मेरे पास 1 ही बेड था तो बोला कि सोना तुम बेड पर सो जाना मैं हाल में नीचे सो जाऊँगा.

तब वो बोली कि चाचा नही नीचे सोएंगे तो दोनों सोएंगे नही तो दोनों साथ मे ही बेड पर सोएंगे वैसे भी बेड बडा है। फिलहाल मैं उसे शाम को शहर में घुमाया और साथ मे बाहर खाना भी खाया और रूम पर आ गए अब दोनों को बहुत तेज नीद आ रही थी तो कपड़े चेंज कर के साथ में सो गए।

रात को 1 बजे होंगे मुझे जैसे लगा कि मेरे लण्ड पर किसी का हाथ चल रहा है। और मेरा हाथ किसी गुदगुदे स्थान पर था। होश आया तो पता चला कि मेरी भतीजी मेरे लण्ड से खेल रही थी और उसकी चुचिया मेरे हाथ के नीचे थी।

अब मै भी जोर जोर से चुचिया दबाने लगा तो उसने बोला चाचा I Love You। मैं आपको बहुत ज्यादा प्यार करती हूं आपको देखती तो मचल उठती हु। मैन आपके साथ रहने के लिए ही यहाँ एडमिशन लिया था होस्टल भी मिला पर मैने नहीं लिया।

मै भी उसे love you too बोला और जोर से उसके ओठ पर अपने ओठ रख दिये और चूमने लगा। अब वो मेरे लण्ड से खेल रही थी और मैं उसके बुर में अंगुली कर रहा था वो बार बार झड़ जा रही थी। जब मैंने उसके ओठ को छोड़ा तो उसने मेरे लण्ड को मुह में भर लिया और मैं उसके बुर को जीभ से चाटने लगा।

अब मेरा भी माल उसके मुँह में चला गया तो उसने चाट-चाट कर साफ कर दिया। मेरा लण्ड फिर खड़ा हुआ तो उसके बुर के मुख पर रख दिया जब मेरा लण्ड आधा ही गया था यो उसने आँखे उलटा दी अब मैं धीरे-धीरे आगे पीछे करने लगा तो वो दर्द से चिल्लाने लगी उसके बुर से खून निकल गया उसकी झिल्ली फट गयी थी।

अब मैं धीरे धीरे पूरा लण्ड उसके बुर में डाल दिया और मजे ले कर चुदने लगी कहने लगी ओह्ह चाचा आप कितने अच्छे है मैं कब से आपसे चुदने को तड़प रही थी पर आज जा कर काम बना चाचा अब चोद चोद कर मेरे बुर का भोसड़ा बना दो। अब मैं सिर्फ आपकी हु। फिलहाल दोनों साथ मे झड़ गए और नंगे सो गए। अब जब भी दोनों घर पर होते है तो नंगे ही होते है और जब भी मन करे चुदाई चालू हो जाती थी।

Visited 23 times, 1 visit(s) today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *