निशा की अन्तर्वासना

Other Languages

Antarvasna xxx Story
(निशा की अन्तर्वासना)

मेरा नाम रानी है आज मैं आपको अपनी के एक सहेली की स्टोरी बता रही हूं जिसका नाम निशा है मेरी सहेली सामने नहीं आना चाह रही थी इस लिए उसने मुझे यह स्टोरी बताई अब आप स्टोरी को उसी के शब्दों में सुनिए antarvasna xxx story

मेरा नाम निशा है मेरी उम्र 25 साल है मेरा फिगर 37-26-36 है मेरी शादी दो साल पहले एक सिविल इंजीनियर से हुई थी मेरे पति मुझे बहुत खुश रखते है मगर अभी वो डेढ़ साल से अमेरिका में हैं और मैं यहां मुम्बई में हूं

नासिक में मेरा मायका है और मैं उधर ही पली बढ़ी हुई हूं मेरे साथ छोटी उम्र में ही कुछ घटनाएं हुई थीं जिनके बारे में मुझे उस वक्त पता नहीं था उस वक्त मुझे लगता था कि यह सब केवल एक खेल का हिस्सा है

फिर जैसे जैसे मैं बड़ी होती गई तो मेरे जीवन में हर बार अलग अलग सेक्स पार्टनर आये जब मैं 19 साल की थी तो मैं सेक्स के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानती थी यही वह साल था जब मेरी लाइफ में पहला आदमी आया था antarvasna xxx story

वो लड़का मेरा भाई था उस वक्त मेरे भाई की उम्र 22 साल थी उस वक्त मेरे फर्स्ट ईयर के एग्जाम खत्म हुए थे मैं अपने घर आ गई थी

मेरी मां काम में लगी रहती थी पापा भी अपने काम पर चले जाते थे भईया घर में टीवी देख कर टाइम पास करते रहते थे घर आने के बाद मैंने मां से एक दिन कहा मुझे बाहर घूमने के लिए जाना है वो बोली क्यों अभी 2 दिन पहले तो आई है तू

मैं बोली मैं पढ़ाई करके थक गई हूं अभी तो एग्जाम खत्म हुए है मैं एक महीने से कहीं भी बाहर नहीं गई हूं
मां बोली तो फिर तुम एक काम करो कि अपने भाई के साथ पास वाले तालाब तक चली जाओ

उनकी बात सुनकर मैं खुश हो गई मैंने दौड़कर अपने नहाने के लिए कपड़े ले लिए और भईया के साथ साइकिल पर बैठ कर चल दी तालाब हमारे घर से डेढ़ घंटे की दूरी पर था मगर भईया ने शार्टकट ले लिया antarvasna xxx story

रास्ता काफी पथरीला था एक बार तो रास्ते में हमारी साइकल एक बड़े से गड्ढे में घुस गई भईया ने मुझे झट से पकड़ लिया उनके हाथ मेरे सीने पर थे हम डर गए लेकिन भईया ने संभाल लिया और साइकिल निकाल ली मगर उनके हाथ अभी तक मेरे सीने पर ही थे वो धीरे धीरे मेरे बूब्स को दबा रहे थे

उस वक्त मेरे बूब्स का साइज 30 का था उस घटना के दौरान मुझे ऐसा लगा कि वो मेरे भईया नहीं बल्कि कोई और मर्द है मैंने भईया को अपने बूब्स पर से अपना हाथ निकालने के लिए कहा हम फिर आगे चल दिए

इस तरह से हम शार्टकट के कारण हम आधे घंटे के अंदर ही तालाब पर पहुंच गए वहां पर जाकर हमने खूब मस्ती की और भईया के साथ मैंने वहां के नजारे देखे उसके बाद हमने तालाब में जाने का फैसला किया antarvasna xxx story

दोपहर का वक्त हो चला था लगभग 1 बजने वाला था और हमने पहले कुछ खाने के बारे में सोचा हल्का फुल्का खाने के बाद हम तालाब में गए अन्दर जाने से पहले मुझे याद आया कि मैं अपना स्विमिंग सूट तो लेकर ही नहीं आई

मेरा दिमाग खराब हो गया और मैं अपने आप पर गुस्सा होकर बैठ गई भईया अपनी शर्ट पैंट उतार कर अपनी निक्कर पहने हुए तालाब में चला गया था वो अंदर जाकर मुझे भी आने के लिए कहने लगा मैंने उसको सारी बात बताई

वो बोला कोई बात नहीं तुमने अंदर से ब्रा और निक्कर तो पहना ही होगा? मैं बोली हां भईया वो बोला तो फिर तुम तौलिया से भी काम चला सकती हो चलो जल्दी से अब अंदर आओ

मैं बोली लेकिन भईया मुझे शर्म आ रही है वो बोला शर्म कैसी यहां पर हम दोनों ही तो हैं और मौसम भी कितना अच्छा हो रहा है मैंने सोचा मैं किसी मर्द के सामने इस तरह से कैसे आधी नंगी हो सकती हूं फिर सोचने लगी कि यह तो मेरे ही भईया है इनके सामने क्या शर्माना antarvasna xxx story

इस लिए फिर मैं अपनी ब्रा और निक्कर में नहाने के लिए तालाब में अंदर चली गई अंदर जाकर मैंने भईया के साथ पानी में खूब मस्ती की नहाने के बाद जब मैं पानी के बाहर आने लगी तो मेरी ब्रा निकल गई और बहकर पानी में अंदर चली गई

मैं अपनी चूचियों को छिपा कर वहीं पर पानी में ही बैठ गई भईया बोले चल खेलते है मैं तुझे पकडूंगा जब वो मेरे पास आये तो मैं बैठी हुई थी वो बोले क्या हुआ?

नीचे गर्दन किये हुए मैंने कहा मेरी ब्रा पानी में चली गई है
वो बोले तो क्या हुआ? मैं बोली मैं पूरी नंगी हूं भईया वो बोले हां तो क्या हो गया कुछ नहीं होता चल खेलते है

भईया ने कहा ऐसा करते हैं कि मैं भी अपनी निक्कर उतार देता हूं और तू भी अपनी निक्कर उतार ले फिर तुम भी पूरी नंगी हो जाओगी और मैं भी फिर तुमको शर्म नहीं आयेगी antarvasna xxx story

मैं भईया की बात मान गई पहले भईया ने अपनी निक्कर पानी के अंदर ही अंदर उतार दी और तैर कर किनारे पर डाल दी फिर मैंने भी अपनी निक्कर उतार दी

भईया बोले अब मैं भागता हूं और तू मुझे पकड़
इस तरह से हम पानी के अंदर खेलने लगे फिर भईया बाहर की ओर भागने लगे मैं भी उनके पीछे दौड़ने लगी लेकिन यह भूल गई कि मैं पूरी नंगी हूं

बाहर निकल कर मुझे ध्यान आया कि मैं पूरी नंगी हूं मैं वहीं पर अपनी चूचियों और चूत को छिपाने लगी इतने में ही भाई ने मुझे देख लिया वो मेरी ओर आने लगे

भईया की टांगों के बीच में कुछ लम्बा सा लटका हुआ था मैं ध्यान से उनके उस अंग को देख रही थी फिर भाई मेरे पास आ गए और मैंने उनसे कहा भईया यह क्या है लम्बा सा? antarvasna xxx story

उस वक्त भईया मेरे पूरे शरीर को गौर से देख रहे थे मैं पूरी नंगी थी और भईया मुझे घूर रहे थे भईया की जांघों के बीच में वो लम्बा सा लटकता हुआ अंग अब आकार बढ़ा रहा था

भईया बोले यह जो लम्बा सा लटक रहा है इसको लंड या जादुई छड़ी कहते है मैंने कहा क्या? जादुई छड़ी वो बोले हां अगर तुम्हें यकीन नहीं होता तो इसको अपने हाथ में लेकर एक बार मसल कर देखो

उनके कहने पर मैंने उसको हाथ में ले लिया और वैसा ही हुआ देखते ही देखते उनका वो लटकता हिस्सा मेरे हाथ से बाहर जाने लगा वो अपना आकार बढ़ा रहा था फिर वो कुछ ही पल में लोहे के जैसा सख्त हो गया

मैंने पूछा भईया इससे क्या करते है? वो मेरी चूत पर हाथ लगा कर बोले इसको यहां पर अन्दर डालते है मुंह में भी डालते हैं और पीछे वाले छेद में भी डालते है antarvasna xxx story

मैं शरमा कर जाने लगी तो भईया बोले किधर जा रही हो? मैंने कहा कपड़े पहनने के लिएवो बोले खाना ऐसे अधूरा नहीं छोड़ा जाता मैंने कहा खाना कहां है? वो बोले यह जो तुमने अभी गर्म किया है इसकी बात कर रहा हूं एक बार यह गर्म हो जाता है तो फिर इसको ठंडा करना होता है

तभी भईया मेरे पास आये और मुझे पकड़ कर मेरे होंठों को किस करने लगे मेरे बूब्स को दबाने लगे मुझे थोड़ा अच्छा लगने लगा इससे पहले किसी ने मेरे बूब्स को ऐसे नहीं छेड़ा था

फिर भईया ने कहा कि घूम कर झुक जाओ मैंने कहा क्यों भईया? वो बोले तुम्हारे छेद में डालना है इसको तभी यह शांत होगा मैं बोली नहीं भईया मुझे डर लग रहा है antarvasna xxx story

वो बोले कुछ नहीं होगा तुम चुपचाप सेक्स का मजा लो मैं दो साल से इस दिन का इंतजार कर रहा था इतना बोल कर भईया ने मुझे पलटा दिया और मेरी पीठ को झुका कर मेरी गांड के बीच में लंड को रगड़ने लगे

फिर वो मेरी चूत पर लंड को रगड़ने लगे मेरी चूत के हिसाब से भईया का लंड काफी बड़ा था मैं बोली नहीं जायेगा भईया वो बोले चुप रह साली रंडी अब तू मुझे समझायेगी कि क्या छोटा है और क्या बड़ा है?

ऐसा बोल कर उन्होंने आहिस्ता आहिस्ता से मेरे छेद में लंड को अंदर डालना शुरू किया भईया ने जोर लगाया तो मेरी चूत में आधा लंड घुस गया मैं छुड़ाने लगी लेकिन भईया ने मुझे पकड़ लिया और मेरी चूचियों को मसलने लगे

मैं बोली भईया दुख रहा है वो बोले कुछ नहीं होगा एक बार दर्द होता है फिर बहुत मजा आता है उसके बाद भईया ने रुक कर एक बार फिर से पूरा जोर लगा कर पूरा 9 इंच का लंड मेरी चूत में घुसा दिया antarvasna xxx story

दर्द से मैं चिल्लाने लगी मुझसे दर्द सहन नहीं हो रहा था धीरे धीरे भईया ने मेरी चूत में लंड को चलाना शुरू किया पहले मुझे दर्द होता रहा लेकिन फिर धीरे धीरे मुझे मजा आने लगा

अब मैं ही भईया से कहने लगी मारो और जोर से मारे भईया आह्ह आई वाह आह आह डालो भईया आह्ह मजा मिल रहा है भईया भी जोर जोर से मेरी चूत में चुदाई करने लगे उसके बाद उन्होंने अपने लंड को मेरी चूत से बाहर निकाल लिया और मेरे मुंह में देकर चूसने को कहा

मैं भईया का लंड मुंह में लेकर चूसने लगी मुझे मजा आ रहा था फिर भईया का पानी मेरे मुंह में निकल गया मैंने भईया के लंड को पानी को पी लिया और मुझे बहुत अच्छा लगा

उस दिन के बाद से भईया के साथ मेरा रिश्ता भाई बहन का नहीं बल्कि पति पत्नी का हो गया हम घर चले गए भईया ने पापा को तालाब वाली बात बता दी थी मुझे इसके बारे में बाद में पता लगा antarvasna xxx story

तीन दिन के बाद मुझे चाचा के पास जाना था पापा ने मुझे चाचा के घर छोड़ने का फैसला किया
हम ट्रेन में जा रहे थे हमारा सेकेंड क्लास का केबिन था हमारा सफर 3 घंटे का था जिस केबिन में हम बैठे थे उसमें हमारे अलावा 2 अमरीकी थे उसमें एक लड़की और एक आदमी था

हमने सोचा कि यह दोनों मियां बीवी होंगे क्योंकि वो दोनों इसी तरह से बर्ताव कर रहे थे जब ट्रेन चली तो आधे घंटे के बाद उन दोनों ने आपस में एक दूसरे को किस करना शुरू कर दिया 10 मिनट तक वो दोनों किस करते रहे पापा उनको देख रहे थे लेकिन फिर नजर घुमा लेते थे

उसके बाद उस लड़की ने उस आदमी की पैंट में हाथ डाल दिया और उसका लंड मसलने लगी फिर वो कुछ देर के लिए रुक गए फिर पापा उनसे पूछने लगे आप कहां जा रहे हो? तभी उस लड़की ने उस आदमी को पापा कह कर पुकारा हम दोनों दंग रह गए पापा बोले यह आपकी लड़की है? वो बोले हां तो फिर पापा ने कहा यह आप क्या कर रहे थे? antarvasna xxx story

वो आदमी बोला हमारे यहां पर यह नहीं देखा जाता कि सामने भाई बहन है या पिता पुत्री है सेक्स तो आखिर सेक्स ही होता है उसको फील किया जाना चाहिए

वो आदमी मेरी ओर देख कर पापा से बोला आप भी मेरी तरह मजा ले सकते है आपको आनंद मिलेगा इसमें फिर उन्होंने हम दोनों को एक गोली दे दी

पापा मेरी ओर देख कर मुस्कराने लगे और मैं भी उनको देख कर स्माइल करने लगी उसके बाद पापा मेरे करीब आ गए उन्होंने मुझे किस करना शुरू कर दिया मैं भईया के साथ सेक्स का मजा ले चुकी थी इस लिए पापा के साथ भी दिक्कत नहीं हो रही थी फिर उन्होंने मेरे कपड़े उतारना शुरू किया antarvasna xxx story

सीट छोटी थी इस लिए हम लोग खुल कर कुछ नहीं कर पा रहे थे उसके बाद हम सीट के नीचे बैठ गए पापा ने मुझे अपनी गोदी में बैठा लिया मेरी चूत में लंड डाल कर चोदने लगे मैं भी चुदने लगी जल्दी ही पापा ने लंड बाहर निकाल लिया और पापा का पानी निकल गया और वो एक तरफ बैठ गए मगर मैं अभी भी प्यासी थी मैं अभी और सेक्स करना चाहती थी

तभी वो ओल्ड मैन बोला क्या हुआ इतने में ही थक गए? मैं तो तीन बार करने के बाद ही रुकता हूं फिर वो लड़की उस आदमी के पास आ गई और उसके लंड को पकड़ कर मसलने लगी

उस आदमी का लंड खड़ा हो गया और वो लड़की उसके लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी उस लड़की को लंड चूसते हुए देख कर मैं भी उसको सेक्स की भूख से देखने लगी

तभी उस आदमी ने अपने कपड़े मेरे सामने निकालने शुरू कर दिये और मेरे पास आकर मेरे मुंह पर लंड को रगड़ने लगा मैं उसके लंड को मस्ती में पकड़ कर चूसने लगी फिर उसने मुझे नीचे लिटा लिया और मेरी टांगों को पकड़ कर लंड अंदर मेरी चूत में डाला और मुझे पकड़ कर चोदने लगा antarvasna xxx story

मेरे मुंह से आवाजें आने लगीं आह्ह आऊऊ हूह आह्ह आह करके मैं चुदने का मजा लेने लगी मुझे चोदने के बाद उसने लंड को निकाल लिया और फिर अपनी लड़की को चोदने लगा फिर वो पापा से बोले मजा आया? पापा बोले हां

आदमी बोला तुमने अपने लंड का पानी नहीं डाला अंदर?
पापा बोले तुम पागल हो क्या? वो मेरी बेटी है आदमी बोला तो क्या हुआ यह भी मेरी बेटी है अब यह मेरे बच्चे की मां बनने वाली है इससे जो बड़ी है उसकी तो शादी भी हो गई है लेकिन वो अपने पति से नहीं बल्कि अपने पापा यानि कि मुझसे ही बच्चा चाहती थी इस लिए मैंने उसको भी चोदा और आज वो मेरे बच्चे की मां है

वो बोला हमारे घर में मेरी एक बीवी और दो बेटी है बेटी का पति संडे को मेरे साथ मिल कर सेक्स इंजॉय करता है मेरी बीवी अब अस्पताल में है और मेरी बेटी के पति के बच्चे की मां बनने वाली है मेरी यह बेटी शादी नहीं करना चाहती है यह बोलती है कि अगर सेक्स ही चाहिए तो घर में पापा है जीजा हैं इस लिए यह बिना शादी के ही मां बनना चाहती है antarvasna xxx story

उनकी यह बात सुन कर मैं और पापा दंग रह गए फिर हमारा स्टेशन आ गया और हम लोग नीचे उतर गए फिर हम चाचा के घर पहुंच गए चाचा के पास दो लड़कियां थीं और उनकी बीवी यानि कि मेरी चाची गुजर चुकी थी

चाचा की दो जवान बेटियां थी मेरे पापा ने ट्रेन में हुई सारी घटना चाचा को बता दी और बोले कि अब मैं सेक्स के बारे में इस बात से पूरी तरह से सहमत हूं कि अपने ही घर वालों के साथ सेक्स हो सकता है

ये सुन कर चाचा ने मेरी ओर देखा पापा भी चाचा को देख रहे थे फिर पापा बोले आज रात को हम भी इसी तरह से सेक्स इंजॉय करेंगे फिर खाना खाने के बाद हम लोग गार्डन में बैठे हुए थे चाचा बोले मेरी बड़ी बेटी को इस बारे में कैसे मनाया जायेगा antarvasna xxx story

मैं बोली वो मैं देख लूंगी उसके बाद मैं चाचा की लड़की के पास गई मैंने उसको सेक्स के बारे में बात करके गर्म किया और उसके साथ लेस्बियन सेक्स करने लगी मैंने उसकी चूत में उंगली और जीभ देकर उसकी चूत को पूरी गर्म कर दिया

इतने में ही पापा और चाचा भी वहां आ गए उन दोनों ने मिल कर मेरी और चाचा की बेटी यानि कि मेरी बहन को मिल कर एक साथ चोदा चाचा के लंड में जितना वीर्य इतने दिन से रुका हुआ था सब निकल आया और चाचा ने मेरी चूत को अपने पानी से भर दिया

कुछ दिनों के बाद मुझे अजीब सा लगने लगा तो डॉक्टर को बुलाया वो बोले कान्गरैचुलेशन आप मां बनने वाली है
यह सुन कर मेरे होश ही उड़ गए फिर मेरा अबॉर्शन करवाया गया antarvasna xxx story

इलाज होने के बाद कुछ महीनों तक मैं चाचा के पास रहने लगी मैंने दो महीने से सेक्स नहीं किया था इस लिए मेरे पूरे बदन में सेक्स चढ़ने लगा था

एक दिन मैं दोपहर को सोकर उठी तो देखा कि चाचा और बाकी के सब लोग घर में नहीं थे तभी मेरी नजर घर के नौकर पर गई उसकी उम्र 42 साल के पास थी

मैंने उसको मेरे लिए चाय लाने के लिए बोला और फिर मैं अपने रूम में आ गई मैंने रूम का दरवाजा खुला ही रखा हुआ था और अपने सारे कपड़े निकाल लिए थे मैं अपनी बॉडी पर ऑयल लगाने लगी

पांच मिनट के बाद नौकर मेरे रूम में चाय लेकर आया उसने मुझे पूरी की पूरी नंगी देख लिया वो सॉरी बोल कर जाने लगा मैं बोली कोई बात नहीं रामू antarvasna xxx story

ये बोल कर मैं उठ कर उसके पास गई और उसकी धोती में हाथ डाल कर उसके 2 इंच चौड़े और 7 इंच लम्बे लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी

उसका लंड तनाव में आने लगा फिर मैं उसके घुटनों में बैठ गई और उसके लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी मुझे उसका लंड बहुत मस्त लगा उसको भी मजा आ रहा था लेकिन वो घबरा भी रहा था

नौकर का लंड मैंने चूस चूस कर एकदम से लोहे जैसा कर दिया और वो मुझे बेड पर पटक कर मेरे ऊपर चढ़ गया उसने मेरी टांगों को खोला और मेरी चूत में लंड घुसा कर मुझे जोर से चोदने लगा

मेरी सेक्स की प्यास बुझने लगी मैं 10 मिनट में झड़ गई और फिर रामू भी मेरी चूत में ही झड़ गया इस तरह से पहले मैंने भाई के साथ फिर पापा के साथ और फिर अपने चाचा के साथ चुदाई का मजा लिया और घर के नौकर का लंड भी लिया antarvasna xxx story

उसके बाद मेरी शादी हो गई शादी के बाद भी मैंने पति और देवर का लंड लिया उसके बारे में मैं आपको फिर कभी बताऊंगी

Visited 12 times, 1 visit(s) today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *