अपने बेटे से झांटों वाली चूत मरवाई

Other Languages

Maa Bete Ki Hindi Sex Story
(अपने बेटे से झांटों वाली चूत मरवाई)

हैलो दोस्तों आप सभी लंड धारियों और चूत की रनियों को मेरा नमस्कार मैं बहुत दिनो से punjabi sex story डॉट कॉम पर maa beta sex story पड़कर मज़े ले रही हूं आज मेरा भी मन किया कि जैसे मैं दूसरों की maa beta sex stories in hindi में पढ़कर मज़े लेती हूं ऐसे ही मैं भी अपनी चुदाई की कहानी आप सबके साथ शेयर करूं maa beta sex story

यह है sex story maa beta जो मेरे और मेरे सगे बेटे के बीच हुई थी तो अब आपका ज्यादा समय बरबाद ना करते हुए सीधा अपनी maa beta hindi sex story पर आती हूं यह maa bete ki chudai ki kahani आप सभी के लंड और चूत से पानी निकाल देगी यह maa bete ki chudai kahani पड़ने के बाद किसी बेटे का अपनी मां को अपने नीचे डालने का मन करेगा और किसी मां का अपने बेटे को अपने ऊपर चढ़ाने का

मेरा नाम कमला है और मेरी उम्र 38 साल है मैं एक सांवले और गदरीले बदन की मालकिन हूं मेरे चूतड़ बहुत भारी है मेरी गांड और मम्में मस्त बाहर निकले हुए है मुझे ब्रा पैंटी पहनने की आदत नहीं है आपको तो पता है हम औरतो को दिन भर कितना सारा काम करना पड़ता है maa beta sex story

तो मैं नाइटी में ही रहती हूं दोपहर को कपड़े और बर्तन धोते टाइम मैं आधे से ज्यादा भीग जाती हूं लेकिन नाइटी बदलती नहीं दोपहर को मैं चादर ओढ़ के सो जाती हूं तब मैं चादर के अंदर नाइटी छाती तक ऊपर कर लेती हूं

नीचे से मैं नंगी होती हूं मैं ज्यादा चूत को चिकना रखने की शौक़ीन नहीं हूं इसलिए नीचे चूत पर झांटों का घोसला बना हुआ है जिससे बहुत बार चूत में खुजली होती है इतनी बेरहम खुजली होती है कि घर में खर खर की आवाज आती है खुजाते टाइम maa beta hindi sex story

अगर घर में बेटा या पति हो तो उनका ध्यान झट से जाता है पति तो टोकता है क्या कर रही हो आराम से बेटा है घर में लेकिन मैं अपने बेटे को बाहर का नहीं मानती घर में हम 3 लोग ही रहते है मुझे अगर कपड़े चेंज करने होते है और वो कमरे में बैठा हो तो मैं उसको कभी बाहर जाने को नहीं बोलती

उसके सामने चेंज करती हूं वो पूरी नज़र से मेरे उभरे मम्में देखता रहता है और नीचे का पेटीकोट वाले नाड़े के नीचे की जगह वाला हिस्सा दिख जाता है लेकिन अगर सोचा जाए तो दिन में कम से कम 4 बार तो उसे मेरी चूत और नंगे मम्मों के दर्शन हो जाते है जब भी नाइटी ऊपर करती हूं काम करते टाइम अंगड़ाई लेते वक़्त जब भी मौका मिले वह ताड़ देता है maa bete ki chudai ki kahani

बेटे का नाम तुषार है अभी कॉलेज में पढ़ रहा है वैसे तो हट्टा कट्टा है लेकिन मेरे लिए तो बच्चा ही रहेगा ना आज कल उसके बर्ताव में बदलाव आने लगा था वो मौका मिले तो मुझे टच करता था उसके छूने में हवस महसूस होती थी कभी टाइट ब्लाउज पहनती तो उतारते वक़्त उसे खींचने को बोलती

तो ऐसे खींचता जैसे फाड़ देगा और अभी यही मुझपे चढ़ जायेगा गले लगने के बहाने हाथो से धीरे धीरे मम्में मसलता मुझे अजीब लग रहा था पर मज़ा भी आता था मैं कुछ नहीं बोलती थी उसको अब तो जब मैं दोपहर को सोई रहती तो वो आके मुझे सूंघता था maa bete ki chudai kahani

चादर उठा के मेरे नंगे बदन को जी भर के देखता था उसे लगता था मैं गहरी नींद मे हूं पर मैं सब जानती थी बस कभी हिम्मत नहीं होती उसे रोकने की इस वजह से उसकी हिम्मत बढ़ रही थी

एक दिन दोपहर को मैं सोई थी चादर में नंगी होकर तो मेरा बेटा धीरे धीरे आया और धीरे से चादर उठा के देखने लगा था इसलिए मैं शर्म से करवट लेकर सो गई जिससे उसे अब मेरी गांड दिखने लगी थी लेकिन ढीठ हिला नहीं उस जगह से अब उसकी गरम सांसे मेरी गांड और चूत पर मसहूस हो रही थी maa bete ki hindi sex story

तो मैंने जांघें जोर से मिला ली जिससे गांड का छेद थोड़ा खुल गया वो गांड के छेद के आजु बाजु सूंघने लगा और चूमने लगा मुझे बहुत अच्छा लग रहा था अब मेरा बेटा अपनी जीभ से मेरी गांड के छेद को ऊपर से चाटने लगा पूरे बदन में मानो बिजली दौड़ गई मैं सिसका उठी और हिल गई और मैं उठके बैठ गई उसे रंगे हाथो पकड़ लिया

मै- ये क्या कर रहा था तू नालायक शर्म नहीं आती तुझे कबसे देख रही हूं रुक आने दे तेरे बाप को आज तेरी खैर नहीं

तो वो डर गया और रोने लगा मेरे पैर पकड़ कर माफ़ी मांगने लगा मैं भी पिंघल गई

मै – अच्छा ठीक है आज से सब हरकते बंद कर देना उसने रोना बंद किया और मुझे मनाने लगा

तुषार – मां प्लीज एक बार आपको देखना चाहता हूं नंगा

मै उसकी तरफ गुस्से से देख रही थी लेकिन वो मुझे मनाने लग गया पैर पकड़ने लगा

मै बोली – जो तू बोल रहा है वो मुमकिन नहीं मैं तेरी मां हूं बेटे ऐसे पागलपन मत कर लेकिन वो नहीं सुन रहा था

atOptions = { ‘key’ : ‘57455d32813293803b3ba1b595ef9476’, ‘format’ : ‘iframe’, ‘height’ : 250, ‘width’ : 300, ‘params’ : {} }; document.write(”);

उसने चादर हटा दी और मैं उसके सामने नंगी थी मैंने पहले अपने हाथो से मेरे बॉल छुपाये तो चूत उसके सामने खुली थी इसलिए मैंने एक हाथ चूत पर रखा और मम्में दोनों आधे ढके हुए थे मैं शर्म से गर्दन झुकाये बैठी थी और मेरा बेटा मेरी गर्दन अपने हाथ से ऊपर कर के बोला maa bete ki hindi sex story

तुषार – मां मैं आपको पसंद करता हूं अगर आपको एक दिन ना देखूं तो बेचैन हो जाता हूं आपकी अदाए आपके गदरीले बदन की वजह से मेरी रातो की नींद उड़ गई है आप मुझे गलत मत समझो मैं जबरदस्ती नहीं करूंगा अगर आपको पसंद नहीं तो

मेरा बेटा वहां से उठ के जाने लगा उसकी ये बात दिल को छू गई आज जीवन में 38 साल बाद कोई बिना डरे मेरी खूबसूरती की तारीफ मेरे सामने की है इसके बाप ने कभी इतना भी नहीं बोला मुझे मैं तो इम्प्रेस हो गई थी मैंने उसका हाथ पकड़ा और उसे नीचे बैठाया और बोली maa bete ki chudai kahani

मैं – देख बेटा गलत मत समझ मुझे नहीं मालूम था तू मुझसे इतना प्यार करता है मुझे लगा ये तेरी हवस है ले छू ले जो करना है कर मैं मना नहीं करूंगी ऐसा बोल के मैंने उसका हाथ अपने एक मम्में पर रख दिया

तुषार – ओह मां तुम सच मे बहुत अच्छी हो ऐसा बोल के वो मेरे मम्में दबाने लगा

तुषार – मां अगर आप कहे तो मैं आपके दूदू पीना चाहता हूं

मैंने सिर्फ हां मे गर्दन हिलाई तो उसने मुझे बिठाया और गोदी मैं आकर दूध चूसने लगा मेरे पेट पर हाथ से सहलाने लगा मस्त दूदू पी रहा था मेरा बेटा अब उसने हाथ धीरे धीरे नीचे करना चालू किया और चूत के ऊपर हाथ ले गया मैं पैर फैला कर उसे ग्रीन सिग्नल दिया अब वो चूत में उंगली करने लगा उसकी उंगलियों की रफ़्तार से मेरी चूत गीली होने लगी थी maa bete ki hindi sex story

मै – बेटा बस कर अब मत तड़पा चोद दे मुझे

उसके लंड को हाथ में पकड़ कर हिलाया तो वो बोला

तुषार – मां आप मज़े लो रुको आज मैं आपको जन्नत की सैर करा लाऊंगा

वो उठ कर मेरी टांगों के बीच आ गया और वही गीली चूत जीभ से चाटने लगा मैं सातवे आसमान पर थी ऐसे जीभ चला रहा था जैसे नाव का चप्पू चप चप बिना रुके चलता है मैं तो अंदर से हिल गई थी मैंने उसका सर पकड़ उसके दांतों पर चूत का दाना रगड़ने लगी maa bete ki chudai ki kahani

मैं चरम सीमा पर थी और कुछ ही देर में मैं उसके मुंह पर झड़ गई और वो चूत का पूरा पानी पी गया फिर उसने मेरी चूत चाट चाट कर साफ कर दी अंदर जीभ डाल डाल एक बून्द भी नहीं छोड़ा होगा

मैं – कहां से सीखा बेटा ये सब ? बोलने पर वो बोला

तुषार – वीडियो देख देख के

उसने मुझे उल्टा लेटने को कहा तो मैं लेट गई वो मेरे पूरे बदन पर जीभ घुमाने लगा पीठ से होते हुए गांड की दरार तक आकर रुका और दरार को चाटने लगा जिससे मेरा बदन कांपने लगा maa beta sex story

मैं – बेटा जान लेगा क्या मां की ? ये सब मत कर

तो उसने बोला क्यों मां पसंद नहीं आ रहा क्या आपको ?

मैंने बोला नहीं ऐसी बात नहीं इतने प्यार की आदत नहीं है बेटा

अब वो गांड फैला फैला कर जीभ घुसाने लगा मुझे भी मज़ा आ रहा था पर वो ठीक से चाट नहीं पा रहा था तो मैं तकिये पे कुतिया के जैसे बैठ गई अब वो गांड आराम से फैला कर चाटने लगा मुझसे सहा नहीं जा रहा था मेरा हाथ अपने आप चूत पर चला गया maa bete ki chudai kahani

मैंने कहा – अब रहा नहीं जाता बेटा तुझे चोदना ही पड़ेगा

ऐसे बोल मैं अपने पैर हवा में फैला कर चूत के दाने को रगड़ रही थी वो अपना लंड निकाल कर चूत पर रगड़ने लगा मैंने वो लंड छेद पर रख उसे बाहों में खींचा तो लंड अंदर चला गया कुछ देर वैसे ही पड़े रहे एक दूसरे के ऊपर उसके बाद वो लंड आगे पीछे करने लगा बहुत मज़ा आ रहा था maa beta hindi sex story

उसने बोला – मां मैं ज्यादा मज़ा देता हूं या डैडी ?

मैंने बोला – बेटा तेरे डैडी इसका आधा भी नहीं करते बस जानवरो की तरह धक्के मारते है फिर खुद का होने पर सो जाते है तेरे जैसा प्रेम मुझे आज तक किसी ने नहीं किया मेरे लाल तू ही मेरा सच्चा बेटा है आज से तू अपनी मां को ऐसे ही प्यार करेगा ना ?

तो वो भी बोला – बिलकुल मां मैं तो कब से तरस रहा था आपको प्यार करने के लिए आज जाकर मौका मिला है

उसने अब स्पीड बढ़ा दी थी फच फच की आवाज पूरे कमरे में आ रही थी मैं ऊपर नीचे होकर उसका पूरा साथ दे रही थी वो पूरा लंड अंदर डाल पूरा बाहर निकाल देता मैं उसे निकालने ही नहीं देती और उसे कसके पकड़ लेती उसने धक्कों की स्पीड बड़ा दी 25-30 मिनट की चुदाई में मैं 3 बार झड़ चुकी थी मेरे बेटे ने भी अपना सारा वीर्य मेरी चूत की झांटों पर निकाल दिया था maa bete ki hindi sex story

उससे चुदने पर असली मर्द क्या होता है चुदाई क्या होती है तब समझी अगर सही मायने में देखा जाए तो उस दिन मैंने शायद पहली बार किसी से अच्छे से चुदाई की होगी मुझे औरत होने का एहसास आया तब जब मेरे बेटे ने मुझे चोदा मैं अपने बेटे की दीवानी हो इतनी जबरदस्त चुदाई के बाद

उस दिन से अपने आप को जवान सा लगने लगा श्रृंगार सजना धजना और बेटे की राह देखना उसे तड़पाना छुप छुप के चुदना ये सब में मज़ा आने लगा अब तो ऐसे लग रहा था कि बेटे को ले के कही दूर चली जाऊं और वहां दोनों नई जिंदगी की शुरुआत करे maa beta hindi sex story

लेकिन वो कमाने नहीं लगा था और समाज भी एक चीज होती है मां बेटे के नाम पे धब्बा नहीं लगाना चाहती थी लेकिन देखा जाए तो वह वो फर्ज निभा रहा था जो उसके बाप को निभाना चाहिए था मैं भी तो आखिर एक औरत हूं बाहर मुंह मारते फिरने से बेटे का लंड लेना लाख गुना अच्छा है

मैं अपने बेटे के साथ जब चाहूं तब चुदाई कर सकती हूं बिना किसी डर के जब उसका बाप घर पर नहीं होता हम मां बेटा खूब चुदाई करते वो मेरी बड़ी गांड और चूत मारता अब तो मेरी चूत की झांटों को मेरा बेटा ही साफ करता है एक दिन तुषार के बाप ने मेरी चुदाई करते हुए मुझसे पूछा क्या बात है आजकल अपनी चूत पर एक भी बाल झांट का बाल नहीं रहने देती maa bete ki hindi sex story

मैंने कहा मेरी चूत पर बहुत खुजली होती थी इसलिए अब अपनी झांटों के बाल साफ करके रखती हूं तुषार के बाप ने कहा ठीक है और वो झड़ के सो गए मेरी प्यास अधूरी रह गई फिर जब मुझे लगा मेरे पति सो गए है तो मैं उठकर बाथरूम में चली गई वहां जाकर मैंने अपनी चूत को अच्छे से धोया और अपने बेटे के कमरे में चली गई maa bete ki chudai ki kahani

मैं जब अपने बेटे के कमरे में गई तो मेरा बेटा सोया हुआ था फिर मैं उसके पास जाकर लेट गई और उसे उठाया और वो मुझे अपने पास देखकर हैरान हो गया उसने मुझे कहा मां आप चली जाओ डैडी कही उठकर मेरे कमरे में ना आ जाए आप चली जाओ

मैंने कहा नहीं आते वो सो गए है मेरी चूत मारने के बाद और मैं अपनी चूत की खुजली मिटवाने तुम्हारे पास आई हूं जल्दी से मुझे चोद और मैं चली जाऊंगी फिर मेरे बेटे ने कमरे की कुंडी लगाई मेरे कपड़े उतार कर मेरी चुदाई करनी शुरू कर दी 20-25 मिनट मेरी चूत मारने के बाद उसने 10 मिनट मेरी गांड मारी और मेरी गांड में ही झड़ गया और मैं उसका वीर्य अपनी गांड में लेकर बाथरूम में चली गई और वहां अपनी गांड को धोकर अपने कमरे में जाकर सो गई maa beta sex story

हम मां बेटा ज्यादातर चुदाई दोपहर को करते है क्योंकि मेरे पति काम पर होते है हमे बहुत टाइम मिलता है अच्छे से चुदाई करने के लिए अब तो मैं अपने पति के साथ बहुत कम चुदाई करती हूं क्योंकि मेरे अंदर आग लगी रह जाती है जो सिर्फ मेरा बेटा ही बाद में बुझाता था

Visited 66 times, 1 visit(s) today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *