मौसी की प्यासी चूत

Other Languages

Mosi Sex Story
(मौसी की प्यासी चूत)

मेरा नाम आकाश कुमार है मैं वैसे तो पुणे का निवासी था लेकिन अब दिल्ली में रहता हू मेरी छोटी बहन 22 साल की है और मैं 26 का हूं एक बार की बात है मैं और मेरी बहन अपनी मौसी के घर पुणे के एक गांव में गए थे मौसी के घर पर मौसी और उनकी बेटी अंजली थी अंजली अभी 18 साल की थी mosi sex story

मेरी मौसी गांव में रह कर खेती का काम देखती थीं और मौसा उनके साथ नहीं रहते थे वे शहर में नौकरी करते थे उनका मौसी के पास करीब चार साल से आना नहीं हुआ था शायद मौसा और मौसी के बीच कोई अनबन हो गई थी मेरी मौसी बेहद खूबसूरत है

उनकी जवानी बहुत ही नशीली है उन की फिगर 36-28-38 की है मौसी के उठे हुए चूतड़ों को और तने हुए मम्मों को देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो सकता था पर गांव में बंदिश अधिक होने के कारण मौसी लाज के चलते किसी से ज्यादा नहीं खुलती थी

मैं मौसी के पास पहुंचा तो मौसी को बड़ी खुशी हुई दूसरे दिन मौसी सुबह ही खेतों में चली गई और मेरी बहन भी उनके साथ चली गई उन्होंने अपनी बेटी से कहा कि वो खाना खेत में मेरे हाथों भेज दे मैं बाद में खाना लेकर गया मौसी काम करने के बाद थक गई थीं उन्होंने खाना खाया और आराम करने के लिए लेट गई mosi sex story

मैं उनकी बगल में लेट गया और मेरी बहन भी मेरे पास लेट गई मेरी आंख लग गई जब आंख खुली तो मैंने देखा कि मौसी के चुचे ब्लाउज से बाहर निकल रहे थे और वो खुद ही उनको दबा रही थीं मैंने आंखे बंद कर लीं लेकिन एक पल बाद मैंने धीरे से एक आंख खोल कर देखा तो पाया कि मौसी एक मोटी सी मूली से अपनी चूत की खुजली मिटाने में लगी थी

यह गरम सीन देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया और लंड से पानी निकलने लगा मैं मौसी की मुठ मारने की गति विधि को हल्की मुंदी आंख से देखने लगा कुछ देर बाद शायद मौसी झड़ गई थीं उन्होंने अपने कपड़े ठीक किये और निढाल सी होकर लेटी रही

मैं इस बात पर गौर नहीं कर पाया था कि जिस तरह से मैंने मौसी को यह सब करते देखा था उसी तरह मौसी ने भी मुझे देखते हुए देख लिया था कुछ देर बाद मौसी उठ गई और फिर से खेत में काम करने लगीं काम खत्म होने के बाद रात तक हम सब घर आ गए mosi sex story

अब मेरी मौसी को देखने का नजरिया बदल गया था मौसा के चार साल से ना होने के कारण मौसी मुझे एक माल दिखने लगी थी खाना खाने के बाद जब सोने गए तो मौसी ने कहा आकाश तू मेरे पास आना मुझे तुम से बातें करनी है मैं मौसी के पास गया तो मौसी ने मेरी मां के बारे में बात की और यहां वहां की बात करने लगीं

मैंने देखा कि मौसी का हाथ मेरे लंड के बिल्कुल पास था मैं उनके व्यवहार को कुछ समझ नहीं पा रहा था और इतने में मौसी का हाथ मेरे लंड को छूने लगा अब मुझे लगने लगा था कि मौसी मुझ से कुछ चाहती है उन की उंगलियां बार बार बहाने से मेरे लंड को छूने लगीं

तो मैंने भी मजा लेना शुरू किया उनकी उंगलियों के लगातार लंड छूने से जब मैंने कुछ नहीं कहा तो वो हल्के से मेरे लंड को रगड़ने लगी अब मेरे लंड में भी कसाव आना शुरू हो गया मैंने एक बारी वहां से हटने की कोशिश की तो मौसी ने मेरे लंड को पकड़ लिया mosi sex story

मौसी ने कहा अपनी मौसी की एक बात मानेगा तो मैंने कहा मौसी मैंने आज तक आपकी कोई बात टाली है क्या नहीं तो सुन बेटा तेरी मौसी को बहुत प्यास है अपनी मौसी की प्यास मिटा दे बेटा तेरा लंड बहुत मोटा है जब तू सो रहा था तो मैं तेरा लंड देख रही थी सच में वो बहुत मोटा है आ मेरी प्यास बुझा दे

यह कह कर मौसी ने लंड को तेजी से दबाया मैंने हल्का सा विरोध किया तो मौसी मुझ से लिपट गई और मेरे होंठों को चूमने लगीं मौसी अपनी चुचियों को मेरी छाती पर रगड़ने लगी इस सब से मुझे बहुत मज़ा आ रहा था मैंने अपना हाथ मौसी की गांड पर लगा दिया और मौसी की मदमस्त गांड दबाने लगा

मौसी के मुंह से मादक सिसकारियां निकलने लगी मैंने मौसी के मम्मों को दबाना शुरू किया उनके मम्मे बहुत मोटे थे अब चुदास की गर्मी बढ़ गई थी तो मैंने मौसी का सूट निकाला और उन्हें लिटा कर उनके ऊपर चढ़ गया मौसी ने मुझे चूमते हुए कहा बेटा मेरे मम्मों का सारा दूध पी ले पूरे 4 साल हो गए किसी ने इनको नहीं पिया है mosi sex story

मैं मौसी के मम्मों को जोर जोर से पीने लगा मौसी के चूचे एकदम से कड़क होने लगे थे फिर मैंने मौसी की चुत पर हाथ रख कर जोर से दबा दिया मौसी आआ आह ऊऊओ आह और जोर से दबा दे फाड़ डाल इसको मैंने अपनी उंगली उनकी चूत में पेल दी मौसी के मुंह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं आह आह उम्म्म उम्म्म्म आह

मौसी बोली बेटा जल्दी कर मैं बोला जल्दी क्या है सारी रात हमारी ही तो है मौसी ने मेरा लंड पकड़ लिया मैंने कहा मौसी तू मेरा लंड मुंह में ले ले मौसी लंड चूसने और चाटने लगीं मैं लंड चुसाई से बहुत गर्म हो गया और मैंने लंड उनके मुंह से निकाल कर सीधे मौसी की चूत में पेल दिया एकदम से लंड पेलने से मौसी के मुंह से चीखने की आवाज आई

आआईई ईई मममम ममम्म्मीईई ओह आह आह मैंने मौसी के मम्मों को मसलना शुरू किया कुछ देर बाद मौसी नार्मल हो गई

अब मैं मस्ती से मौसी को पेले जा रहा था और करीब 10 मिनट बाद मैंने मौसी की चूत में लंड का पानी छोड़ दिया मौसी ने कहा तू तो बहुत बड़ा उतावला है मौसी की चूत में एक बार में ही पूरा घुसा दिया मैं ढीला होकर मौसी के ऊपर गिर गया mosi sex story

मेरा लंड अभी भी मौसी की चूत में था 2-3 मिनट बाद मेरा लंड मौसी की चूत की गर्मी से फिर उठने लगा मैं मौसी के मम्मे चूसने लगा मौसी आह आह करने लगी मैंने मौसी को उल्टा कर दिया और दोनों हाथो से मौसी के चूतड़ों को खोला और मौसी की गांड को चाटने लगा

मौसी ने धीरे से मुझे कहा ये क्या कर रहा मेरी गांड क्यों चाट रहा है मैंने कहा मौसी अब मैं आपकी गांड मारूगा मौसी बोली नही मैंने तो कभी अपनी गांड तेरे मौसा को नही मारने दी मैं बोला नही मौसी मैं तो आपकी गांड मारुगा मौसी नही मान रही थी

मेरा बहुत दिल कर रहा था मौसी की गांड मारने को पर मौसी मान नही थी मौसी के मोटे मोटे चूतड़ों को देख कर मौसी की गांड में डालने का दिल कर रहा था मैं मौसी की गांड चाटे जा रहा था और सोच लिया मैं अभी मौसी की गांड मरुगा चाहे मुझे जबरदस्ती करनी पड़े मौसी के साथ mosi sex story

मैं थोड़ी देर मौसी की गांड चाटकर उठा और फिर मौसी को सीधा कर लिया अब मैं मौसी की चूत और गांड दोनो चाट रहा था और हाथो से मम्मे दबाने लगा मेरी जीभ मौसी की चूत और गांड पर चल रही थी और हाथ मम्मो पर मौसी आह आह उफ उफ कर रही थी मौसी बहुत ही ज्यादा गर्म हो गई थी

मैं उठकर मौसी के उपर आ गया और अपने लंड को थूक लगाया और मौसी की चूत पर रखकर चूत और गांड को लंड से रगड़ने लगा मैंने पहले अपना लंड मौसी की चूत में डाला और फिर एकदम चूत से निकलकर गांड में डाल दिया मौसी को कुज समझ में आता इससे पहले मेरा आधा लंड मौसी की गांड में घुस गया

मौसी के चिलाने से पहले मैंने अपना हाथ मौसी के मुंह पर रख दिया और मौसी की गांड मारने मौसी तड़फने लगी जैसे बिन पानी के मछली मुझे मौसी की जबरदस्ती गांड मारते हुए बहुत मज़ा आ रहा था मौसी की गांड बहुत टाइट थी मौसी की गांड से खून निकलने लगा 10 मिनट बाद मैंने अपना वीर्य मौसी की गांड में निकाल दिया mosi sex story

मैंने जब अपना लंड मौसी की गांड से बाहर निकाला तो मौसी अपनी गांड पर हाथ लगाकर देखने लगी और मुझे गाली निकलने लगी तूने अच्छा नही किया मेरे साथ मेरी गांड फाड़ डाली तूने मैंने मौसी को सॉरी बोला और मौसी के नंगे बदन से लिपट गया और मौसी को प्यार करने लगा और मौसी से मैंने कहा आज के बाद तुम सिर्फ मेरी हो

मौसी अभी तक गुस्से में थी क्योंकि मौसी की गांड अब तक दर्द कर रही थी मैं मौसी के होंठ चूसने लगा मौसी मस्त होने लगी फिर मौसी ने मुझे कहा ठीक है अब जब भी तुम्हारा दिल करे मेरी चूत और गांड मार सकते हो ये बात सुनकर मैं बहुत खुश हुआ थोड़ी देर बाद मैं और मौसी नंगे ही एक दुसरे को लिपट कर सोने लगे

Visited 57 times, 1 visit(s) today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *