भाभी की चुदाई का बुखार – 1

Other Languages

Hindi Bhabhi Sex Story 1
(भाभी की चुदाई का बुखार 1)

हैलो दोस्तों मेरा नाम इस दीपक है मेरी उम्र 18 साल है मैं बीकानेर में अपने पिताजी उम्र 52 साल के साथ रहता हूं जो फैक्ट्री चलाते है मम्मी उम्र 50 साल हाउसवाइफ है बड़े भाई उम्र 26 साल प्राइवेट जॉब करते है और उनकी वाइफ़ यानि मेरी भाभी कुसुम उम्र 25 साल फिगर 36-28-38 है जिनको देखकर मेरा लंड खड़ा हो जाता है hindi bhabhi sex story

मै पहले दिन से ही उनका दीवाना था और उनको चोदना मेरा एक सपना था ये किस्सा एक साल पहले का है मेरी बारहवीं क्लास चालू ही हुई थी और मेरे भाई की नई नई शादी हुई थी मैं पढ़ाई में इंटेलीजेंट तो नहीं पर एवरेज था

मम्मी और पापा नीचे रहते है और मेरा और मेरे भाई का कमरा ऐसे है के ऊपर सीढियां चढ़के मेरे कमरे से एंटर होकर उनके रूम का दरवाजा है और एक ही बाथरूम है ऊपर जो भईया और भाभी के कमरे से अटैच है मैं वही बाथरूम यूस करता हूं मम्मी के घुटनो में प्रॉब्लम है इसलिए मम्मी कभी ऊपर नहीं आती

एक दिन बिन मौसम तेज बारिश हो रही थी शाम को डोर बेल बजी मैंने गेट खोला तो देखा सामने भाभी खड़ी थी रेड कलर की साड़ी में पूरी भीगी हुई उनके पूरे कर्व्स दिख रहे थे मेरा लंड तो पजामा के अंदर एकदम पूरा टाइट हो गया भाभी अंदर आई और सीढ़ियां चढ़के ऊपर जाने लगी मैं भी पीछे पीछे चल दिया क्या गांड लग रही थी उनकी साड़ी से चिपकी हुई hindi bhabhi sex story

भाभी सीधे बाथरूम में नहाने चली गई मैं अपने कमरे मैं आके मोबाइल में पोर्न देखने लग गया पोर्न देखने में बिलकुल भी मज़ा नहीं आ रहा था क्यूंकि मेरे सामने सिर्फ भाभी की ही तस्वीर आ रही थी लाल साड़ी में भीगा उनका बदन थोड़ी देर में भाभी कपड़े चेंज करके बाथरूम से बहार आ गई और नीचे चली गई

मैं सीधे बाथरूम भागा मुठ मारने के लिए बाथरूम में जाते ही मैंने अपना पजामा खोला और जैसे ही सामने देखा तो सामने भाभी के भीगे हुए कपड़े पड़े थे मैंने साड़ी उठाई तो नीचे ब्रा पैंटी भी पड़ी थी मेरी धड़कन तेज़ हो गई मैंने पहले ब्रा उठाई और उस पर लेबल देखा 36 वाओ मैंने उसे सुंघा उसमे से भाभी के बदन की खुशबू आ रही थी

मैं पागल हो गया फिर मैंने पैंटी उठाई उसपे क्रॉस वाली जगह कुछ चिपचिपा सा लगा हुआ था शायद वो भाभी की चूत का पानी था मैंने पैंटी सूंघी और क्रॉस वाली जगह चाटने लग गया मैं सातवे आसमान में था मैंने आंखे बंद की और पैंटी सूंघते सूंघते मुठ मारना चालू कर दिया hindi bhabhi sex story

एकदम से दरवाजा खुला मेरे पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई और आंखों के सामने अंधेरा छा गया सामने भाभी खड़ी थी मैंने चिटकनी ढंग से नहीं लगाई थी इस वजह से दरवाजा खुल गया भाभी मुझे गुस्से से देख रही थी मेरा लंड डर के मारे एक दम से सिकुड़ गया और मेरे हाथ पैर कांपने लग गए

भाभी मेरे पास आई और एक जोरदार चपात मारी और मेरे हांथो से पैंटी छीनी और जमीं पे पड़ी ब्रा उठाके चली गई मैंने दरवाजा ढंग से बंद किया और शावर के नीचे खड़ा हो गया पानी मेरे शरीर से होते हुए ज़मीन पर गिर रहा था पर मुझे कुछ एहसास नहीं हो रहा था

मेरा शरीर सुन्न पड़ चुका था करीब आधा घंटे बाद मैं बाथरूम से बहार आया भाभी के कमरे में कोई नहीं था मैं नीचे गया भाभी किचन में खाना बना रही थी मैं चुपचाप टी वी के सामने जाकर बैठ गया थोड़ी देर में मम्मी ने मुझे खाना दिया और मैं चुप चाप खाना खाके अपने कमरे में आके सो गया मुझे पक्का यकीन था के भाभी भईया को सब बता देगी मैं बहुत डरा हुआ था

सुबह जब उठा तब भईया उठ चुके थे भईया से नज़र मिलते ही भईया ने मुझे बुलाया मेरी सांसे रुक सी गई मैं भईया के पास जाकर बैठा मैं भईया के पहले अल्फाज़ो का इंतज़ार कर रहा था भईया ने बस पढ़ाई के लिए पूछा और नहाने धोने चले गए शायद भाभी ने भईया को अभी तक नहीं बताया था hindi bhabhi sex story

एक महीने तक मैंने भाभी से नज़रे भी नहीं मिलायी भाभी ने भी मुझसे बात नहीं की पूरा महीना मेरा खौफ में निकला खैर मेरा इस टर्म का रिजल्ट आया तो मैं फिजिक्स और मैथ्स मैं फ़ेल था परसेंटेज भी 38 ही बनी थी रात को भईया आके खूब चिल्लाये मुझपे मैं नज़रे झुकाये बस सुनता रहा फिर भईया मुझपे हाथ ही उठाने वाले थे की भाभी ने भईया का हाथ पकड़ लिया

भाभी बोली – प्लीज मारो मत आगे मन लगाके पढ़ेगा दीपक

ये सुनते ही मैंने भाभी की तरफ देखा भाभी नार्मल थी भईया ने बोला

भईया – मैं तो थक चुका इस लड़के से पढ़ेगा नहीं तो क्या करेगा लाइफ में ज़िन्दगी ख़राब हो जायेगी इसकी

भाभी – आप चिंता ना करे अब से ये खूब पढ़ेगा

भईया – ठीक है कुसुम अब तुम ही सम्भालो इसको मैं अब इससे बारहवीं के बाद ही बात करूंगा

अब मैं अपने रूम में आके किताब खोलके बैठ गया अब मुझे थोड़ा रिलैक्स हुआ भाभी के प्रति मेरे सारे गंदे विचार निकल चुके थे रात को भईया के सोने के बाद मैंने भाभी के नंबर पर मैसेज किया hindi bhabhi sex story

मै – सॉरी

भाभी का तुरंत रिप्लाई आया

भाभी – इट्स ओके

मै – थैंक्स फॉर सेविंग मी फ्रॉम भईया

भाभी – गुड नाईट सुबह बात करते है
मेरे चेहरे पर पूरे एक महीने बाद स्माइल आई सुबह भईया ऑफिस और पापा फैक्ट्री जा चुके थे भाभी मुझे उठाने आई मैंने गुड मॉर्निग बोला और स्माइल दी भाभी ने वापिस स्माइल दी

मै – सॉरी अगेन भाभी

भाभी – मैं वो सब भूल चुकी हूं अब तुम भी वो सब भूलके बस पढ़ाई पे ध्यान दो

मै – मुझे लगा था के आप भईया को सब बता देंगी

भाभी – बोल देती पर मुझे लगा की तू दोबारा नहीं करेगा

मै – थैंक यू भाभी

भाभी – चल अब छोड़ उस बात को अब केवल पढ़ाई पे ध्यान दे तेरी जिम्मेदारी अब मैंने ले ली है तुझे अब तेरे भईया को अच्छे नंबर ला के दिखाना ही पड़ेगा मुझे बोर्ड्स में तेरे 80% से ऊपर नंबर चाहिए

मै – हलवा है क्या भाभी 80% मेरे तो पास होने के ही लाले पड़ रहे है

भाभी – मैं कुछ नहीं जानती मुझे तेरे बोर्ड्स में 80% चाहिए मैं चाहती हूं की तेरा एडमिशन एक अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेज में हो hindi bhabhi sex story

मै – इंजीनियरिंग भाभी मुझे फिजिक्स और मैथ्स का घंटा भी नहीं आता

भाभी – अगर तू मुझे भाभी मानता है तो तू 80% भी लाएगा और इंजीनियरिंग भी करेगा

मै – लेकिन भाभी मेरा मन ही नहीं लगता पढ़ाई में

भाभी – मैं सब जानती हूं की तेरा मन किस चीज़ में लगता है

मै – भाभी

भाभी – अच्छा सुन तेरे इन गन्दी चीज़ों के कारण ही कम नंबर आते है ना ? अब इन चीज़ों के कारण ही तू पढ़ेगा

मै – पर भाभी मेरे नर्सरी में भी कभी 80% नहीं आए अब कैसे आएंगे

भाभी – अगर मैं कहूं के तेरे सब गंदे सपने सच हो जाएंगे अगर तू 80% लाएगा तो तब भी नहीं बनेगी ?

मै – मतलब

भाभी – मतलब ये मेरे ठरकी देवर के मन जो कुछ भी मेरे साथ करने की इच्छा है वो सबकुछ करने दूंगी मेरे साथ

मै – सच भाभी

भाभी – हां मेरे ठरकी देवर

मुझे यकीन नहीं हो रहा था मेरी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा मैं कहीं खो गया था के भाभी ने मुझे टोकते हुए कहा

भाभी – ओए ज्यादा ख्वाब ना देख ये सब तब ही हो पायेगा जब तू ढंग से केवल पढ़ाई में मन लगाए अच्छा सुन मैंने तेरे लिए कुछ कंडीशंस बनाई है hindi bhabhi sex story

तू केवल 15 दिन में एक बार पोर्न देख सकता है और मास्टर बेट कर सकता है

मास्टर बेट केवल रात मैं करेगा और सो जाएगा

मेरे बारे में एग्जाम ख़तम होने तक गंदे विचार नहीं रखेगा

मै – अगर रिजल्ट आने पर आपने मना किया तो ?

भाभी आगे बढ़ी और मेरे गाल पे एक सेक्सी किस किया

भाभी – ये ले तेरी टोकन मनी तू इस बारे में टेंशन ना लेना तुझे बीच बीच में सरप्राइज इंसेंटिव भी मिलेगा इन इंसेंटिव के स्लैब्स है

आल क्लियर 70% इन सेकंड टर्म

आल क्लियर 80% इन प्री-बोर्ड्स

80% इन बोर्ड्स

जैकपोट तुझे अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन पे मिलेगा

मै तो पागल हो गया मैं कुत्तों जैसी नज़रों से भाभी को देखने लगा

भाभी – चल अब बाथरूम जाकर फ्रेश हो और मिशन चालू कर दे

मैने उसी दिन से ट्यूशन्स पे रेगुलर जाना चालू कर दिया मेरे ट्यूशन्स पे एक लड़का था रमेश वो बहुत इंटेलीजेंट था मैं उसे घर ले आया भाभी ने उसे थोड़ा क्लीवेज दिखा के और उसके गालो पे गाल फिराके बोल दिया की प्लीज रमेश तुम रोज़ ट्यूशन्स के बाद 1 घंटा आ जाया करो और दीपक को रीविजन करा दिया करो hindi bhabhi sex story

रमेश पूरा लाल हो गया और उसने हां कर दी अब मैं सब काम छोड़कर केवल पढ़ाई में मन लगाने लग गया रमेश रोज़ मेरा रीविजन करा देता ऐसे ही मैं 3 महीने तक रेगुलर पढता रहा रात को भाभी 1 बजे तक मेरे लिए कॉफी बना के लाती भाभी ने बोल रखा था के जब भी मुझे 15 दिन में पोर्न देखने की इच्छा हो तो मैं उनको बोल दूं

भाभी खुद मेरे को पोर्न देती थी ताकि मेरा पोर्न ढूंढ़ने में टाइम वेस्ट ना हो मेरा सेकंड टर्म का रिजल्ट आया रिजल्ट देख के मेरे भईया तो बहुत खुश हुए पर मैं उदास हो गया मैं आल क्लियर तो हो गया था बट मेरी परसेंटेज 66 ही थी यानी के मुझे भाभी का सरप्राइज इंसेंटिव नहीं मिलेगा hindi bhabhi sex story

शाम के 5 बज रहे थे बारिश भी आ रही थी मैने भाभी को बोला इंसेंटिव के लिए

मै – भाभी प्लीज वो सरप्राइज इंसेंटिव दे दो

भाभी – क्यों ? तुम्हारे 70% थोड़ी आए है इंसेंटिव तो 70% पे था

मै – प्लीज भाभी

भाभी – नो रूल्स आर रूल्स

मै बालकनी में मुंह लटका के खड़ा हो गया करीब 15 मिनट बाद भाभी आई

भाभी – क्या हुआ ?

मै- कुछ नहीं

भाभी – जा बाथरूम जा के फ्रेश हो आ

मै – मुझे नहीं जाना

भाभी – जा तो सही तेरा मूड ठीक हो जाएगा

मै बाथरूम की और जा रहा था कि पीछे से भाभी ने आवाज़ लगाई कुंडी ढंग से लगा लेना मैने बाथरूम में एंटर होकर कुंडी लगाई और देखा सामने भाभी की ब्रा पैंटी टंग रही थी फिर दुबारा भाभी की आवाज़ आई प्लीज गन्दी मत करना मैंने ब्रा पैंटी उतारी वो सिल्क की थी एक्वा कलर की मन पागल हो गया hindi bhabhi sex story

मैंने फटाफट पजामा उतारा और ब्रा को लंड पे लपेटकर पैंटी को सूंघने चाटने लग गया सिल्क कलर लंड पे कमाल लग रहा था मैंने हाथ ब्रा पे रखकर लंड पर आगे पीछे करना शुरू किया बहुत मज़ा आ रहा था फिर मेरा निकलने वाला था तो मैंने ब्रा लंड से हटा ली और इस तरह मैं डिस्चार्ज हो गया

मैंने ब्रा पैंटी वापिस टांग दी और सफाई करके बाथरूम से बहार आ गया मैंने भाभी को थैंक यू कहा और पूछा की अगला इंसेंटिव क्या होगा ? भाभी ने बोला की 80% ले आना और खुद देख लेना मैं वापिस पढ़ाई में लग गया

बाकी कहानी अगले भाग में

Visited 37 times, 1 visit(s) today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *