भाई बहन चुदाई के जोश में पागल हुए

Bhai Behan Sex Story

Sister Pussy Massage

हैलो दोस्तो, मेरा नाम रोहित है। मैं 20 साल का हूँ और मेरा लंड 8 इंच का लंबा और 2.5 इंच का मोटा है। मुझे चुदाई की कहानियाँ पढ़ना बहुत अच्छा लगता है और मैं क्रेजी सेक्स स्टोरी का नियमित पाठक हूँ। मैं नागपुर का रहने वाला हूँ। मेरे घर में मैं अपने माता-पापा और एक बड़ी बहन बीनू दीदी के साथ रहता हूँ. Sister Pussy Massage

उस समय मैं इंटर में पढ़ रहा था, वो बीए कर रही थी. उसका बदन बहुत ही कामुक है. वो बिल्कुल गोरी है. उसकी हाइट कुछ कम है … मतलब यही कोई पांच फुट एक इंच है. फिगर साइज़ 34-32-38 के करीब है. उसकी जवानी को देख कर हर कोई उसे चोदना चाहेगा.

मेरी बहन बीनू घर में टाइट सूट और सलवार पहनती थी, जिस में उस के खड़े मम्मे और उठी हुई गाण्ड बहुत मस्त दिखाई देते थे। उन्हें देख कर मेरा लंड हमेशा खड़ा रहता था। दोस्तो, जैसा कि कहानियों में लिखा होता है उतनी आसानी से माँ या बहन नहीं पटती।

एक दिन हम दोनो साथ बैठ कर पढ़ाई रहे थे तो उसने एक सूट और सलवार पहन रखा था और मेने एक कैपरी और t shirt . हम दोनो आमने सामने बैठे थे मे बोर हो रहा था फिर मे उठ कर पीसाब करने चला गया और पिसाब करते टाइम एक आईडिया आया तो मेने अपनी कैपरी मे छोटा सा छेद कर दिया ओर उसके सामने जा कर बैठ गया.

वह मेरी तरफ देख कर हंसने लगी मेने कुछ नही कहा और सोने के लिए लेट गया मे जैसे लेता वैसे ही सो गया. मुझे देख दीदी भी मेरे पास लेट गई ओर सो गई मुझे 1.30 के करीब पिसाब के लिए उठा ओर नीद मे ही पिसाब करने के चला गया जब मे आया तो देखा दीदी मेरे बगल मे ही सोई हुई है.

वो दिवाल की तरफ मुंह कर के सो रही थी ओर उनकी गाण्ड मेरी तरफ थी मे देख कर पागल हो गया और लेट गया. अब मुझे नीद नही आ रही थी मेने अपनी करवट कर के दीदी की तरफ मुंह कर लिया ओर मे सोने का नाटक करने लगा.

धीरे धीरे अपने एक हाथ दीदी की चूतड पर रख दिया और उनके चूतड काफी बड़े होने को वजह से मेरे एक हाथ छोटा पढ़ रहा था. अब मे धीरे धीरे चूतड हल्के हल्के से दवा रहा था मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. मेरी भी हिम्मत बढ़ गई थी दीदी की तरफ से कोई reaction नही हो रहा था.

मेने अपना हाथ लगे बढ़ा कर दीदी का नाडा लूज कर दिया ओर धीरे से मेने उनकी सलवार पीछे थोड़ी नीचे कर दी और मे उनकी गुलाबी कच्छी देख कर मेरा लंड साप की तरह खड़ा हो गया था. अब मेने अपना एक हाथ दीदी की कच्छी के अंदर डाल दिया.

मुझे ऐसा महसूस हो रहा था की मेने अपना हाथ किसी भट्टी में दे दिया हो. फिर एक दम से दीदी ने अपनी करवट बदल ली और मेने जल्दी से अपना हाथ वहा से हटा लिया और दीदी मेरी तरफ मुंह कर लिया था तो मे कुछ कर नहीं पा रहा था वेट करते करते मे कब सो गया मुझे पता ही नही चला।

सुबह जब मे उठा तो दीदी मुझ से पहले उठ चुकी थी वो नाश्ता कर रही थी मे भी जल्दी से नहा धोकर नाश्ता करने लगा. और मे दीदी को देख रहा था वो ऐसा दिखा रही थी रात हमारे बीच कुछ हुआ ही न हो. हमने अपना अपना नाश्ता खत्म किया दीदी अपने कॉलेज चली गई और मे अपने स्कूल.

स्कूल मे ज्यादा कुछ नही हो रहा था मे और मेरे दोस्त सब अपने अपने घर आ गए और दीदी भी 4.00 बजे के करीब कॉलेज से आ गई. वो फ्रेश हो कर टीवी देखने लगी ऐसे ही डिनर टाईम हो गया हमारे घर मे 8.00 बजे तक रात का खाना खा लिया जाता है.

उसके बाद दीदी और मे अपनी पढ़ाई करते है आज मे दीदी को अपना लंड दिखाने वाला हु मे बाथरूम मे जा कर अपना अंडरवियर उतार कर shorts कच्छा पहन लिया और उसको नीचे से थोड़ा फाड़ दिया. फिर मे जल्दी से आ कर दिवाल से टिक कर बैठ गया.

थोड़ी देर बाद दीदी भी मेरे सामने आ कर बैठ गई, हम दोनो अपनी अपनी पढ़ाई मे लग गए एक घंटा पढ़ने के बाद मे बोर होने लगा. और मेरे दिमाग मे एक खुराफात चलने लगी मे अपने पैर उठा कर बैठ गया जिस कारण से मेरा लंड साफ साफ दीदी को दिख रहा था.

पर वो कुछ बोल नही रही थी बस देखे जा रही थी आधा घंटा दिखा कर मे सोने जाने लगा और मे अपने बेड पर लेट गया. दीदी भी थोड़ी देख के बाद वो भी लेट गई मेरे ही पास अब मे वेट कर रहा था दीदी जल्दी सो जाए फिर मे अपना काम शुरू करू।

11.30 के करीब मेने दीदी को हिला कर देखा दीदी सो गई या जग रही हैं दीदी सो चुकी थी आज दीदी ने लास्टिक वाली सलवार पहनी थी उसमे नाडा नही होता है। मेने आज अपना हाथ सीधा सलवार के अंदर डाल दिया और मजे लेने लगा मे दीदी की चूत और गाण्ड पर अपना हाथ सहला कर मजे ले रहा हु.

मेने अपना हाथ बाहर निकाला और बीच की उंगली पर थूक लगा कर दीदी की चूत और गाण्ड पर ले गया. दीदी की गांड़ के छेद मे उंगली घुसा दी और मेने पूरी उंगली घुसा कर जल्दी से हाथ हटा लिया दीदी अपनी जगह का हीली भी नहीं.

फिर मेने हिम्मत कर के सलवार और कच्छी गुटनो तक उतार दी मैंने दीदी की गांड़ के छेद और अपनी जीभ लगा कर चाटने लगा. फिर भी दीदी नही हिली वो सोती रही फिर मेने अपना लंड अपने कच्छे से बाहर निकल गांड़ चाटते चाटते हिलाने लगा.

मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था 20 मिनट ऐसे की करते करते मे झड़ने को हो गया. मेने अपना लंड दीदी की गांड़ मे टोपा देके उनकी गांड़ मे झाड़ दिया जब मेरे लंड का टोपा दीदी की गांड़ मे गया तो दीदी थोड़ा हिली थी. लंड का मॉल निकलते ही आदमी ठंडा पढ़ जाता है.

ये सब लेने के बाद मैने दीदी को ऐसी ही हालत मे छोड़ दिया और आंख बंद करके देखने लगा दीदी क्या करती है. आधे घण्टे के बाद दीदी उठी और अपनी कच्छी और सलवार ठीक कर के सो गई और मे भी सो गया. सुबह जब मे उठा तो दीदी जा चुकी थी.

मेने उठ कर देखा की दीदी टेबल पर बैठ कर नाश्ता कर रही है मे भी फ्रेश हो कर नाश्ता करने लगा ओर बार बार दीदी की तरफ देख रहा था पर वो तो ऐसे दिखा रही थी। कि कुछ हुआ ही ना हो रात को. दिन मे कुछ खास हुआ नही मे तो रात होने का वेट कर रहा था.

आज मुझ से पहले दीदी पढ़ाई करने चली गई फिर मे भी पढ़ाई करने लगा. दीदी बार बार मेरे कच्छे की तरफ देख रही थी मेने सोचा की आज क्यों न दीदी के मुंह मे दिया जाए। दीदी सर दर्द बोल कर लेट गई और सो गई. मे भी थोड़ी देर मे लेट गया और मेने अपना कच्छा पहले ही उतर दिया था.

मेने धीरे से अपना एक हाथ आगे की तरफ क्या सलवार का नाडा खोलने को पर आज दुसरे तरीके बधा हुआ था तो खुलने की जगह वो और टाईट हो गया. फिर मेने सोचा की वैसे भी मुंह मे करना है तोह क्या करूंगा खोल कर। मे अपनी जगह से उठा ओर दीदी के फेस की तरफ आ गया और दीदी के मुंह के पास आ कर मुठ मारने लगा और दीदी के लिप्स पर अपना लंड फिरा रहा था.

15 मिनट मे मेरा मॉल दीदी के लिप्स और पूरे चेहरे पर गिरा दिया और अपनी जगह पर आ कर लेट गया और सो गया. 12 बजे के करीब दीदी ने मुझे उठा ओर बोला की मेरे सर दर्द हो रहा मेरे सर की मालिश कर दे मे किचन मे गया और एक कटोरी मे सरसों का तेल ले आया ओर दीदी की सर की मालिश करने लगा.

तो आधे घंटे बाद बोली की अब कुछ आराम हैं मुझे। अब तू सो जा मे भी सो जाती हु मैने बोला दीदी कटोरी मे तेल बच गया है मे रख आता हु दीदी बोली नही रहने दे मे सुबह रख दूंगी फिर मे लेट गया और सोने लगा। काफी देर बाद मे पिसाब के लिए उठा तो देख की दीदी की सलवार का नाड़ा ढीला है.

मेने ज्यादा देर न करते हुए मेने दीदी की पूरी सलवार निकाल दी और अपने गड्ढे के नीचे छिपा दी और कच्छी भी उतार दी. फिर मेने दीदी की चूत ओर गांड़ को चाटने लगा आधे घण्टे तक चाटने के बाद दीदी ने पानी छोड़ दिया।

पर दीदी ने अपनी आंख न खोली सोने की एक्टिंग कर रही थी पर मेने भी सोचा की आज आंख खुलवा ही दूंगा. दीदी कुछ बोलना नही चाहती थी पर मे उनकी आंखो मे देख कर उन्हे चोदू मेने दीदी के कान मे धीरे से कहा दीदी जग रही हो तो अपने मिल कर करते है ये सब. “Sister Pussy Massage”

पर दीदी ने कुछ नही कहा और न कोई reaction किया मैने सोचा की आज इस तरह चोदूंगा की अपने आप ही बोलेगी. मैने लंड पर थूक लगा कर चूत पर लगा दिया ओर एक धक्के मे पूरा लंड दीदी की चूत मे डाल दिया पर दीदी नही हिली.

फिर मैने दीदी के दोनो पैरो को अपने कंधे पर रख कर जोर जोर से धक्के देने लगा आधे घण्टे बाद मेरा सारा वीर्य दीदी की चूत के अंदर ही छोड़ दिया। फिर मैं सोने का नाटक करने लगा थोड़ी देर बाद दीदी उठी उनकी चूत से वीर्य गिर रहा था.

वो सीधा वाशरूम मे चली गई ओर वहा वो toilet करने के बाद सब धोकर वहा से वाहर आ गई कच्छी पहन ली और सलवार उसको दिख नही रही थी. तो उसने अलमारी से एक लोअर निकल कर पहन लिया और सो गई अगले दिन छुट्टी थी तो आराम से सोना था. “Sister Pussy Massage”

जब मे सुबह उठा तो वो मेरे से पहले उठ चुकी थी ओर बाथरूम मे नहा रही थी मे सीधा उठा ओर बाथरूम मे चला गया। हमारे बाथरूम मे कोई गेट नही हैं एक परदा लगा हुआ है जैसे ही मे अंदर गया तो मै देखता ही रह हुआ.

जब उसने मुझे देखा तो मेरे एक चाटा लगा दिया बोला की तू सीधा अंदर कैसे आ गया तुझे पता नही है मे नहा रही हु. मे sorry बोल कर बाहर आ गया जब दीदी बाहर आई तो वो ज्यादा कुछ नही बोली ऐसा दिखा रही थी कुछ हुआ ही नही हैं.

मे दीदी के पास जाकर बोला दीदी sorry मेने आप के बूब्स देख लिए थे बाथरूम मे दीदी बोली मुझे पता है पर पे अनजाने मे हुआ है तो ज्यादा guilty होने की जरूरत नही है मे face आगे कर के नहा रही थी तो दिख ही जायेंगे। पर कोई बात नही ज्यादा निराश नही हो तूने जानबूझ कर थोड़ी किया था वो सब अनजाने मे हो रहा है तो होने दो ज्यादा खुलने की कोई जरूरत नही हैं। जो चल रहा हैं उसे चलने दो ओर ये सब बात बाहर अपने किसी दोस्तो मे नही बताना इस मे अपने ही घर वालो की बदनमी हैं।

मेने बोला ठीक है दीदी मे किसी को कुछ नही बताऊंगा। ऐसे ही काफी दिन निकल गए हम दोनो के बीच मे कुछ भी नही हुआ। मेरे बोर्ड के exam paas आ रहे थे तो मे काफी रात तक पढाई करता था. ऐसे ही एक रात दीदी फिर से मुझे बोली मेरे सर मे दर्द हो रहा है मेरी सर की मालिश कर दे मेने तेल से मालिश कर दी।

दीदी मेरे ही बेड पर ही सो गई थोड़ी देर बाद मे भी सोने लगा अचानक मेरी आंख खुली मेरे कच्छे के ऊपर कोई हाथ फिरा रहा है। वह हाथ दीदी का था मेने दीदी की तरह कोई भी रिएक्ट nhi कर रहा था। दीदी ने मेरा कच्छा उतार कर लंड बाहर निकाल लिया था और हिला रही थी.

मुझे अच्छा लग रहा था दीदी धीरे से नीचे की तरफ खिसक कर मेरे लंड के पास अपना मुंह आ कर थोड़ा अपना थूक लगा कर मेरा लंड हिला रही थी ओर मजे ले रही थी। रूम की सारी light बंद थी हम एक दूसरे को देख भी नही पा रहे थे और ये अच्छा भी है. “Sister Pussy Massage”

दीदी अब मेरे लंड को अपनी जिभ से चाट रही थी ओर हिला रही थी ओर धीरे धीरे वो मेरा पूरा लंड चूसने लग गई. काफी देर चूसने के बाद मेरा मॉल निकलने को हो गया दीदी बहुत तेज तेज चूस रही थी मेरा निकलने ही वाला था तो गलती से मेरा एक हाथ दीदी एक सर और रख गया ओर उसी टाइम मेरा सारा मॉल दीदी के मुंह मे भर गया.

दीदी एक दम से मेरा कच्छा उपर कर के सीधा लेट गई। ओर सो गई। मे भी सो गया। अगली सुबह हम दोनो नॉर्मल थे वो अपने कॉलेज चली गई और मे दोस्त के यह कुछ notes लेने चला गया मेरे दोस्त ने एक ऑल subject के notes दे दिए। फिर मे घर आ गया।

ओर टीवी देखने लगा ओर देखते ही मे सो गया और 7 बजे सो कर उठा। तब तक दीदी आ चुकी थी 8 बजे हमने सबने खाना खा कर आपने आपने काम मे लग गया मे ओर दीदी पढ़ने लगे 10 बजे के करीब दीदी फिर बोली सर दर्द हो रहा रहा मालिश कर दे.

मैने कर दी और फिर तेल की कटोरी अपनी साइड और रख ली मेरे कुछ समझ नही आया दीदी लेट गई दीदी ने आज लोवर और T shirt पहन रखी थी आज लग रहा है की दीदी ने ब्रा नही पहनी है। दीदी सो गई मेने भी एक बुक फिनिश करके सोने के लिए लेट गया उस से पहले मैने light off कर दी। “Sister Pussy Massage”

एक घंटे बाद मेने दीदी के चूतड पर हाथ फेरा तो मुझे लगा की दीदी ने कच्छी भी नही पहनी है आज फिर मेने अपना हाथ हटा लिया और सोने लगा कुछ देर बाद दीदी ने हो मेरा कच्छा नीचे कर के हिलाने लगी आज मुझे कुछ चिकना सा लग रहा था दीदी बहुत तेज तेज हिला रही थी.

दीदी ने भी अपना लोवर निकल कर अलग कर फेक दिया था और t shirt भी निकल दी थी दीदी पूरी नंगी लग रही थी मे तो सीधा लेटा हुआ था दीदी अपनी जगह से उठी ओर मेरा लन्ड और भी ज्यादा चिकना हो गया दीदी ने अपने दोनो अपने पैर मेरे left or right ki तरफ रख कर लंड पर धीरे धीरे बैठ रही थी पर वो मेरा पूरा लंड ले रही थी दीदी की सिसकारी निकल रही थी.

मेने अपनी बॉडी मूव नही कर रहा था तो दीदी ही अपने आप चूद रही थी 15 से 20 मिनट के बाद दीदी मेरा सारा मॉल चूत मे ही ले गई और आराम से लेट कर सो गई जैसे मे सो गया आपने सारे कपड़े पहन कर सो गई। अगले दिन दीदी ने फिर से दर्द का बोल कर मालिश करवाई ओर लेट गई आज दीदी ने सूट सलवार पहनी थी।

मे भी लेट गया पर दीदी ने आज कुछ नही किया फिर मेने ही दीदी का सूट सलवार उतारने लगा दीदी आराम से उतरवा रही थी। आज भी दीदी ब्रा पैंटी नही पहनी थी मैने दीदी को पूरी नंगी कर दिया ओर एक उंगली पर तेल मे डूबा कर चूत मे अंदर बाहर करने लगा. “Sister Pussy Massage”

दीदी की सिसकारियां निकलने लगी मे दीदी के मुंह पर आ के उनकी नाक दबा दी जिसे उन्होंने अपना मुंह खोल दिया. जैसे मुंह खुला मैने अपना लंड उसके ममुंह मे डाल दिया और आगे पीछे करने लगा ओर वो अपनी जीभ से पूरे लंड चूस रही थी.

मे भी उसकी चूत चाट रहा था 30 मिनट मे हम दोनो ही झड़ चुके थे 10 मिनट के बाद फिर लन्ड खड़ा हो गया. मैने कुत्ते की आवाज निकली तोह दीदी समझ गई डॉगी स्टाइल मे करने को बोल रहा हैं दीदी डॉग तरह बन गई मेने तेल की कटोरी उठाई अपनी 2 उगलियों को तेल मे बिघो दिया ओर चूत ओर गांड़ मे तेल लगा दिया.

फिर दीदी अपना हाथ से मेरे लंड pr काफी सारा तेल लगा दिया पर दीदी काफी दिनों से चूद रही हैं पर मुंह से बोल नही रही है. पर मुझे क्या मुझे तोह लेने से मतलब हैं दीदी ने काफी तेल लगा दिया लंड पर और मेरा हाथ हटा कर अपने हाथ से चूत ओर गांड़ पर काफी सारा तेल लगा लिया.

मेरा लंड पकड़ कर गांड़ के छेद पर सेट करने लगी पर वो बार बार फिसल जाता है मैने बोला अपने मुंह से अपने मुंह मे तकिया लगा लो छेद छोटा है दर्द होगा तोह चीख निकल सकती है। दीदी वैसे ही कर रही थी मैने बोला गांड़ ही मारू तोह दीदी ने हा मे सर हिला दिया. “Sister Pussy Massage”

फिर मे बोला अपने दोनो हाथो से चूतड़ों को फैलाओ उसने वैसा ही किया मैने छेद पर रख कर एक धक्का दिया तो मेरा लंड उसकी गांड़ मे 3 इंच तक चला गया चिकनाहट की वजह से आराम से चला गाया दीदी बहुत सन्त उन्हे तोह कुछ महसूस हो ही नही रहा था.

मैने पूरी ताक़त एक धक्का दिया पूरा 8 इंच का लंड दीदी की गांड़ में पूरा चला गया दीदी तोह जेल गई मजे ले रही थी उन्हे कुछ नही हो रहा था पर मजा ले रही थी दीदी ने तकिया मुंह से निकल दी मे भी थक चुका था तोह मे रुक गया पर वैसे ही खड़ा रहा तोह दीदी ने ही जोर जोर से अपने धक्के देने लगी और मजे ले रही।

दोनो को chudai करते करते एक घंटा हो गया था दोनों थक गए थे मेरा भी मॉल नही निकला था तो दोनों उसी हालत मे लेट गए और सो गए। सो कर जब मे उठा तोह दीदी मेरे पास नही थी ओर तेल की कटोरी भी नही थी वहा दीदी कॉलेज जा चुकी थी.

फिर मे फ्रेश हुआ नाश्ता किया और पढाई की ओर अपने दोस्त के यहा चला गया तो वो पॉर्न देख रहा था तो उसमे एक लड़की ने लड़के के आंख पर पट्टी बाध रखी थी और चुदाई कर रही थी मे देख कर मजा आ गया दोस्त बोला यार कोई है तो चूत का इंजाम है तोह बता मेने कहा भाई चुसवा सकता हु बोला कैसे कल की छुट्टी है शॉपिंग मॉल चलेंगे मुझे तू वहा मिल जइयो टाइम से। “Sister Pussy Massage”

फिर मे घर आ गया आज दीदी भी घर जल्दी आ गई थी तोह मेने दीदी से पूछ दीदी आज जल्दी कैसे आ गए दीदी बोली क्लास थी नही तो क्या मरते वहा पर अच्छा किया दीदी आप आ गए मुझे कल कुछ कपड़े लेने है आप भी चलना दीदी बोली ठीक है कल की छुट्टी भी है मेरी।

तोह दीदी से कल का मामला सेट हो गया फिर हम दोनों दिन मे ही सो गए रात भर के जागे हुए थे तो सो गए. रात को दोनो डिनर के टाइम पर ही मां ने दोनों को उठाया हम दोनों फ्रेस हो के खाना खाया फिर हम अपनी पढाई करने लगे आज मेने दीदी को को बोला दीदी आज मेरे दर्द है तोह आप मेरी मालिश कर दो.

दीदी ने कहा ठीक है जा तेल लिया नीचे से आज तेल खत्म हो गया था मैंने दीदी से पूछा दीदी तेल तोह खत्म हो गया तोह क्या करे दीदी ने कहा कोई बात नही देसी घी का डब्बा उठा ला। दीदी ने देसी घी से सर की मालिश कर दी तो पूरे कमरे मे घी की खुश्बू हो गई तो डब्बा साइज मे रख कर सोने लगे.

धीरे धीरे मैंने अपने सारे कपड़े निकाल दिया पूरा नगा हो गया और थोड़ी देर बाद दीदी ने अपना हाथ मेरी शरीर पर हाथ फिराया तोह उन्होंने मेरे लंड पकड़ लिया ओर हिलाने लगी दीदी उठी अपने कपड़े निकाल दिए पूरी नगी हो कर मेरा लंड चूसने लगी मैंने उसे रोक दिया वो साइड मे आ कर नगी ही लेट गई तो मेने घी का डब्बा खोला और अपना लंड उस घी मे डुबो दिया। “Sister Pussy Massage”

फिर मे दीदी के पास गया दीदी ने मुंह नही लिया फिर मे आ कर पीछे लेट गया और घी मे हाथ लिया दीदी की बूब्स को मसलने लगा दीदी खुश हो गई दीदी ने लंड फिर से पकड़ लिया ओर हिलाने लगी दीदी मेरे ऊपर चढ़ गई घी लगा होने की वजह से एक बार मे ही चूत मे चला गया दीदी लन्ड पर उछलने उगी आधे घण्टे में दीदी झड़ गई और वो लेट गई.

मेने दीदी को जोर जोर से चोदा। मे झड़ गया दीदी की चूत मे फिर ऐसे ही सो गए आज मे जल्दी उठ गया था तो मेने लाइट ऑन कर के दीदी के पास लेट गया उन्हे पूरा नगा मेने आज पहली बार देखा हैं ओर ये देख कर मेरा लड खड़ा हो गया गया मेने जल्दी से घी से चिकना करके ऐसे ही लेट गया।

थोड़ी देर बाद दीदी उठी देखा की भाई का लंड लड़ा है तो दीदी चूसने लगी दीदी ने मेरे ऊपर चादर डाल दी और चूसने लगी 5 मिनट मे ही दीदी ने मेरा निकल दिया दीदी सारा मॉल पी गई। ओर जल्दी से बाथरूम मे भाग गई नहा धोकर निकली थोड़ी देर बाद दीदी वहा से चली गई. फिर मेने देखा दीदी आज कुश जड़ा है तो मेने बोला दीदी कुछ बोलना है आप बुरा न मानो तो काहू दीदी बोला बोल गुस्सा मत दिला दियो आज छुट्टी वाले दिन फिर मैंने कुछ नही कहा।

Visited 153 times, 1 visit(s) today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *