अंधेरे में बेटे से चुद गई – 4

Maa Beta Sex StoryOther Languages

New Maa Beta Sex Story 4
(अंधेरे में बेटे से चुद गई 4)

पिछले maa beta sex story भाग में आप ने पढ़ा मेरे पति उठकर मेरी छाती पर स्वार हो गए उन्होने मेरा सर पकड़ अपना लंड मेरे होंटो पर दबाया मेरे होंठ खुलते ही उन्होने आधा लंड मेरे मुंह में घुसा दिया अब मेरे पति जरूर चूत चाटने में उस्ताद थे मगर मेरे लंड चूसने के आगे मेरे पति भी फेल थे चूत चाटने में अब आगे की maa beta sex story पढ़े

सुपाड़े को मुंह में दबा जब मैंने अपनी जीभ नरम कोमल तवचा पर रगड़ी तो पति आह आह करने लगे मेरी जीभ की नोंक उनके मूत्र के छेद को कुरेदने लगी मैंने एक हाथ से उनके टट्टे सहलाने शुरू कर दिए और दूसरा हाथ पीछे ले जाकर उनकी गांड में उंगली डालने लगी maa beta sex story

अब मेरा मुंह तेज़ी से उनके लंड पर आगे पीछे हो रहा था और उसका सुपाड़ा फूलता जा रहा था पति ने झटके से मेरा सर नीचे पटका और उठ कर वापस मेरी टांगो के मधय चले गए उन्होने मेरी टांगे अपने कंधो पर रख ली और मेरे मम्मों को दबोच एक तेज़ जोरदार झटका दिया

ऊह्ह्ह्ह्ह लंड का सुपाड़ा अंदर घुसते ही मैं सिसक उठी पति ने मम्मे भींच तीन चार करारे घस्से मरे और लन्ड पूरा अंदर घुसा दिया उफ्फफ्फफ क्या बात है आज तो बड़े पहलवान बन रहे हो तुझे बहुत बातें आने लगी हैं बहुत हंसी आती है मेरी मर्दानगी पर पति हुंकारते हुए धक्के पर धक्का दिए जा रहे थे

ओह तो बदला ले रहे हैं हाए आह मेरे मुंह से तेज़ सिसकारी निकली हाए मर गई कोई भला ऐसे भी बीवी को चोदता है अगर कहीं ऊह्ह्ह्ह मेरी चूत फट गई तो

तेरी गांड है ना वो साली किस दिन काम आएगी पति के धक्के तेज़ होते जा रहे थे चूत रस से इतनी भरी हुई थी के लंड के अंदर बाहर होने का ऊंचा शोर पैदा हो रहा था

ख़बरदार जो मेरी गांड के बारे में सोचा तक भी वो तो हरगिज़ नहीं मिलेगी आप को मैं भी नीचे से गांड उछालने की कोशिश कर रही थे मगर पति ने इस कदर दबोचा हुआ था के मेरे लिए गांड उछलना बहुत मुश्किल था

ऐसे नखरे तो तू शुरू से करती आ रही है मगर गांड तो तेरी मैं फिर भी ले ही लेता हूं

अब नहीं दूंगी अगर ऐसे मारोगे जैसे अब मेरी चूत मार रहे हो तो गांड के बारे में भूल जाओ मेरे पति हमेशा मेरी गांड के पीछे पड़े रहते थे मगर मुझे चूत मरवाने में ज्यादा आनंद आता था आनंद तो गांड मरवाने में भी जरूर था मगर चूत जितना नही और उसमे पीड़ा भी बहुत होती थी maa beta sex story

दीनू का जरा ख्याल करा कर मुझे उसकी बहुत टेंशन रहती है मेरे पति अचानक मुझे चोदते हुए बोल उठे

ख्याल तो रखती हूं अब और क्या करूं पति ने भी क्या मौका चुना था बेटे की बाबत बात करने का

अरे मेरा मतलब यार वो इतना जवान है और सारा दिन कमरे में घुसा है इस उम्र में तो लड़के लड़कियो के पीछे घूमते हैं पति ने अचानक से चुदाई रोक दी

अच्छी बात है ना इसमें बुरा क्या है मैं नीचे से अपनी कमर हिलाती बोली

यार तुम बात को समझ करो उसक इस तरह एकांत को पसंद करना ठीक नहीं पति अचानक मेरी आंखों में देखते बोले वो खासा सीरियस थे

क्या मतलब ?

इस तरह दुनिया से कट जाना इसके दो ही कारन हो सकते हैं या तो किसी लड़की ने उसका दिल तोड़ दिया है जा फिर जा फिर

या फिर क्या ? मैं उत्सुकतावश पूछ बैठी

या फिर कहीं वो गे तो नही है पति के मुंह से वो बात निकलते ही मैं हंसने लगी

atOptions = { ‘key’ : ‘57455d32813293803b3ba1b595ef9476’, ‘format’ : ‘iframe’, ‘height’ : 250, ‘width’ : 300, ‘params’ : {} }; document.write(”);

आप भी ना गे और वो माय गॉड हंसी से मेरा बुरा हाल हो गया था

इसमें हंसने की कोनसी बात है ? मेरे पती ने मेरे कूल्हों पर जोरदार थपड़ लगते हुए कहा और क्या गे हमारा बेटा गे है मैं और भी जोर से हंसने लगी पति भी मुस्करा उठे

तो तुम्हे क्या लगता है ?

मुझे क्या लगता है मैं बताती हूं मगर आप जरा अपने लन्ड को तो हरकत दीजिये आप तो अपनी मर्दानगी दिखाने वाले थे मेरे ताने पर पति ने फिर से धक्के लगाने शुरू कर दिए

अच्छा यह हुई ना बात आपका लंड जब मेरी चूत को यूं रगड़ता है तो मेरा दिमाग बहुत तेज़ चलता है

दिमाग तो मालूम नहीं मगर जब भी तेरी भीगी चूत को चोदता हूं तो ऐसा आनंद आता है के लगता है जन्नत बस तेरी टांगो के बीच ही है मेरे पति अपनी पसंदीदा लाइन बोलते हुए अपना चेहरा झुकाकर मेरे होंठो को चूमते है

हां बहुत चालू हैं आप भी

हां यह हुई ना बात आपका लंड जब मेरी चूत को यूं रगड़ता है तो मेरा दिमाग बहुत तेज़ चलता है

दिमाग तो मालूम नहीं मगर जब भी तेरी भीगी चूत को चोदता हूं तो ऐसा आनंद आता है के लगता है जन्नत बस तेरी टांगो के बीच ही है मेरे पति अपनी पसंदीदा लाइन बोलते हुए अपना चेहरा झुकाकर मेरे होंठो को चूमते है maa beta sex story

हां बहुत चालू हैं आप भी

बस डार्लिग तुम्हारी सोहबत का असर है अब जरा मेरे सवाल का भी जवाब दे दो

हां क्या पूछा था आपने वो बेटे के बारे में मुझे लगता है आपकी पहली बात सही है जरूर किसी लड़की ने बेचारे का दिल तोड़ दिया है

मुझे भी यही लगता है मादरचोद मालूम नहीं साली कौन होगी पति गुस्से में अपने धक्कों को तेज़ किए जा रहे थे हम फिर से उत्तेजना के शिखर की और बढ़ने लगे थे

आप उस बेचारी को क्यों गालियां दे रहे हैं आप तो जानते तक नहीं हो उसे

गालियां नहीं दूं तो और क्या करू और तू क्यों उसकी इतनी तरफदारी कर रही है जैसे तू उसे जानती है

मैं कहां तरफदारी कर रही हूं मैं तो कह रही हूं के गलती हमारे बेटे की भी हो सकती है अचानक वो रात का मंज़र मेरी आंखों के सामने घूम गया चूत और भी रस बहाने लगी

गलती ? क्या गलती करेगा वो ज्यादा से ज्यादा उसकी चूत ही मार ली होगी ना हरामिन किसी और से भी तो मरवाएगी ही अगर मेरे बेटे ने मार ली तो कोनसा पहाड़ टूट पड़ा पति के मुंह से बेटे के लंड का ज़िक्र सुन मेरी चूत में सनसनी की लहर दौड़ गई मैंने पूरा जोर लगाकर कमर उछालनी शुरू कर दी मुझे कामुकता का दौरा सा पड़ गया maa beta sex story

उफ्फ्फ्फ्फ जरा तेज़ तेज़ करिये ना मेरा रस निकलने वाला

मेरा भी पति ने अपने धक्कों की ररफ्तार फुल कर दी

वैसे आप सही कह रहे थे हमारे बेटे ने किसी को चोद भी दिया तो क्या हो गया अब भगवान ने उसे लंड तो चोदने के लिए ही दिया है मैं फिर से उसी समय में पहुंच गई थी मैं फिर से घोड़ी बनी हुई थी और मेरा बेटा मुझे पीछे से ताबड़तोड़ धक्के लगाता चोदे जा रहा था

यही तो कह रहा हूं डार्लिग चूत तो बनी ही चोदने के लिए है मेरे सामने मेरे बेटे का चेहरा था जो मुझ पर झुका हुआ मुझे ठोक रहा

हम्मम चूत तो बनी ही है चोदने के लिए लंड लेने के लिए मैं उन आंखों में देखते बोली चोदो मुझे मेरी चूत मारो ऊऊम्मम्मह्ह्ह चोदो मेरी चूत मारो मेरी चूत तो बनी ही चोदने के लिए है मैंने बेटे का चेहरा अपने हाथों में पकड़ उसे खींच कर अपने होंठ उसके होंठो पर दबा दिए मेरी चूत से रस बहने लगा जिस्म अकड़ने लगा पूरी देह की नस नस फड़कने लगी maa beta sex story

मेरी आंखें बंद हो गई मैं झड़ती हुई बेटे के लंड का स्वाद लेने लगी कुछ जोरदार धक्को के बाद उसका रस मेरी जलती चूत को शीतल करने लगा मैंने उसकी गर्दन पर अपनी बाहें जकड दी और उसे कस कर सीने से लगा लिया

Visited 54 times, 1 visit(s) today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *